ऑनलाइन सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, दो महिलाओं समेत 4 गिरफ़्तार…

क्राइम न्यूज़ नई दिल्ली प्रदेश

दिल्ली।। पुलिस ने एक ऑनलाइन सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया है। ये गिरोह देह व्यापार के लिए लड़कियों को पांच सितारा होटलों तक भी भेजता था। पुलिस ने इस मामले का खुलासा एक लड़की के अपहरण की शिकायत मिलने के बाद किया। पुलिस ने इस गिरोह का खुलासा करते हुए 2 लड़कियों समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से एक नाबालिग लड़की को मुक्त कराया गया है। पुलिस अब इस रैकेट की करतूतों और नेटवर्क की छानबीन कर रही है।

इस मामले की शुरुआत दिल्ली के राजौरी गार्डन इलाके से हुई। जहां से दिल्ली पुलिस को 22 जनवरी 2021 में एक लड़की को अगवा किए जाने की शिकायत मिली थी। पुलिस केस दर्ज किया और मामले की जांच शुरू की। इस केस के सिलसिले में दिल्ली पुलिस ने जगह-जगह दबिश दी। एक गुप्त सूचना के आधार पर दिल्ली पुलिस ने मजनू का टीला इलाके में छापा मारा और एक नाबालिग लड़की को बरामद किया ।

लड़की की बरामदगी इस केस की जांच में दिल्ली पुलिस के लिए एक बड़ी कामयाबी थी। दिल्ली पुलिस की जांच जैसे जैसे आगे बढ़ी। मामला धीरे धीरे सेक्स रैकेट तक जा पहुंचा। दिल्ली पुलिस के अफसर उस वक्त हैरान रह गए, जब पता चला कि लड़की के अपहरण के तार ऑनलाइन सेक्स रैकेट से जुड़े हैं। जिसका जाल दिल्ली-एनसीआर के 150 व्हाट्सएप ग्रुप के जरिये फैला हुआ था।

हैरानी की बात यह है कि किडनैप की गई लड़कियों को ही देह व्यपार में जबरन धकेला जाता था और इन लड़कियों को नामी गिरामी पांच सितारा होटल में सप्लाई किया जाता था। पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार इस सेक्स रैकेट से हजारों कस्टमर जुड़े हुए हैं। रेस्क्यू की गई नाबालिग लड़की ने पुलिस को बताया कि उसे उस वक्त किडनैप किया गया था, जब वो पास की दुकान से चिप्स लेने गई थी। वहां दो लोगों ने उसे घर पर आकर बर्थडे केक खाने का लालच दिया था।

केक खाने के बाद लड़की बेहोश हो गई और उसके बाद रैकेट के दोनों सदस्यों ने उसे अगवा कर मजनू का टीला इलाके में सेक्स रैकेट के अन्य सदस्य संजय, अंशु, कनिका रॉय और सपना गोयल को सौंप दिया था। पुलिस ने सारा मामला सामने आने के बाद संजय, अंशु, कनिका रॉय और सपना गोयल को गिरफ्तार किया है। संजय और कनिका दिल्ली के रहने वाले हैं, जबकि सपना और अंशु शर्मा पश्चिम उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं।

पुलिस ने सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया। जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। मुक्त कराई गई नाबालिग लड़की ने पुलिस को बताया कि इस गिरोह के लोग उसे जबरन ड्रग्स दिया करते थे। पुलिस अब इस एंगल से भी मामले की छानबीन कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *