पंचायत समीक्षा

गिरफ्त में बंटी और बबली..8 माह में डेढ़ दर्जन दुकानों को बनाया निशाना.. पढ़िए पूरी खबर

छत्तीसगढ़ क्राइम न्यूज़ जांजगीर चाम्पा प्रदेश

जांजगीर।।छत्तीसगढ़ के जांजगीर में पुलिस ने रविवार को शातिर चोर दंपती को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए दोनों आरोपी बंटी और बबली मूवी की तर्ज पर चोरी करते थे। 8 माह के दौरान दोनों ने डेढ़ दर्जन से ज्यादा दुकानों को निशाना बनाया। पुलिस ने आरोपियों के घर से 6 लाख रुपए का सामान दो पिकअप में भरकर बरामद किया है। खास बात यह है कि दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली लड़की से ही शादी की और फिर दोनों चोरियां करने लगे।

चोरी का मोबाइल ऑन हुआ तो ट्रेस करते हुए पुलिस पहुंच गई घर

पुलिस ने चोरी के आरोपी सक्ती क्षेत्र के चारपारा कनेटी निवासी संतोष कुमार पटेल और उसकी पत्नी प्रमिला साहू को गिरफ्तार किया है। दुकान से एक मोबाइल चोरी हुआ था। उसकी लोकेशन ट्रेस कर पुलिस दोनों आरोपियों तक पहुंची। पूछताछ में दोनों आरोपियों ने मालखरौदा व डभरा में 6-6 और सक्ती क्षेत्र में 3 चोरी की वारदात कबूल की है। घर से एलपीजी सिलेंडर, ऑक्सीजन सिलेंडर सहित अन्य सामान बरामद हुआ है।

घर में गड्ढा खोदकर छिपाया था चोरी का सामान

आरोपियों के घर से सीपीयू, कम्प्यूटर मॉनिटर, इन्वर्टर, बैटरी, कैमरा, स्टेबलाइजर, 7 मोबाइल फोन, लेमिनेशन मशीन, प्रिंटर, मोबाइल एसेसरिज, कटर मशीन, हाटगन मशीन, 50 हजार रुपए और अन्य सामान बरामद किया है। इन सभी सामानों को आरोपियों ने घर में ही गड्ढा खोदकर छिपाया था। साथ ही चोरी की वारदात में इस्तेमाल होने वाली बाइक भी जब्त की है।

लॉकडाउन में काम गया, तो चोरी करने को मजबूर हुए

आरोपी संतोष पटेल पहले टाइल्स मिस्त्री का काम करता था। लॉकडाउन की वजह से बेराजगार हो गया। काम मिलना लगभग बंद हो गया था। ऐसे में पत्नी के साथ चोरी करना शुरू कर दिया। दोनों मेन रोड की दुकानों को ही निशाना बनाते थे। मेन रोड और हाइवे के किनारे की दुकानों के आसपास रात को 12 बजे सूनसान हो जाता था। इसके कारण लोगों को भनक तक नहीं लगती थी और चोरी करना आसान होता था।

शादी से पहले 376 के मामले में पत्नी ने ही भेजा था जेल

संतोष पटेल का प्रेम प्रसंग तीन साल से प्रमिला साहू के साथ चल रहा था। शादी करने से मना करने के बाद अगस्त में पत्नी ने ही दुष्कर्म का आरोप लगाकर संतोष को जेल भिजवा दिया। बाद में दोनों ने शादी कर ली थी। संतोष जेल जाने को भी बेरोजगारी का एक कारण मानता है। उसका कहना है कि जेल से आने के बाद उसे टाइल्स लगाने का काम नहीं मिलता था। इसके कारण भूख से मरने की नौबत आ गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *