चार साल की बच्ची से दुष्कर्म, डर इतना कि रात में उठकर मम्मी से लिपट रोने लगती है…

क्राइम न्यूज़ दर्दनाक देश

सूरत।। वराछा में चार साल की बच्ची से दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने एम्ब्रॉयडरी कारखाना संचालक अशोक मोनपारा को गिरफ्तार कर लिया। जानकारी के मुताबिक आरोपी ने बच्ची को एक खाली कारखाने में ले जाकर मोबाइल में अश्लील फोटो दिखाया था। इसके बाद उसके साथ दुष्कर्म किया।

बच्ची ने अपनी मां से इसके बारे में बताया कि आरोपी दो से तीन बार उसके साथ दुष्कर्म कर चुका था। निशान देखने के बाद उन्हें ये इस बात का पता चला कि बच्ची के साथ कुछ गलत हुआ है। पीड़ित बच्ची की मां ने बताया कि वह काम पर जाती है। बच्ची अपने बड़े भाई के साथ घर पर रहती है। पिता का भी एम्ब्रॉयडरी का काम है।

जब भी वह काम पर जाती थी तो बच्ची से कहकर जाती थी कि अगर भइया मारे तो नीचे सेठ के पास चली जाना। बच्ची अक्सर उसके कारखाने पर खेलने जाती थी। जबकि उसका भाई घर पर ही रहता था। 19 मार्च की रात को बच्ची पूरी रात सो नहीं पाई। अगले दिन उसे नहलाते हुए जब कपड़े पहना रही थी तब प्राइवेट पार्ट पर चोट का निशान था। बच्ची से इस बारे में पूछने पर उसने कहा कि काका ने गंदा काम किया है। बच्ची की मां अशोक के पास गई तो वह मना करने लगा।

इस मामले में आरोपी का कहना था कि उसने ऐसा कुछ नहीं किया है। बच्ची के परिवार के लाेग पैसों के लिए उस पर ऐसा आरोप लगाया जा रहा है। इसके बाद मां अपनी बच्ची के साथ पुलिस स्टेशन गई और आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 (ए)(बी) 376 (3), पॉक्साे की धारा 3, 4, 5(एम), 6, 11 (1) (3), 12 के तहत मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

रात में बच्ची बोली- बचा लो, पूरी रात साे नहीं सकी

शिकायतकर्ता ने बताया कि 19 की रात को बच्ची जब बगल में लेटी थी तब वह बहुत घबराई हुई थी। वह पूरी रात सो नहीं सकी। वह बस मम्मी-मम्मी कह रही थी। कभी-कभी बच्ची चिल्लाने लगती कि बचा लो वह ऐसा करेगा। जब उसे पुलिस स्टेशन ले गए थे तब भी पुलिसकर्मियों काे देखकर घबरा रही थी।

शिकायतकर्ता ने बताया कि जब भी बच्ची उसके कारखाने पर आती थी तो अशोक उसे फोन कर इस बारे में बताता था। बच्ची का परिवार पिछले ढाई साल से वहां रह रहा है। आरोपी इससे पहले से वहां कारखाना चला रहा है।

मौसी बाेली- पहले भी शक हुआ था, निशान देखे थे

बच्ची की मौसी ने बताया कि उसे पहले भी बच्ची के साथ गलत होने की आशंका हुई थी। कुछ महीने पहले वह अपनी बहन के घर आई थी। तब बच्ची घर पर बिना कपड़ों के लेटी हुई थी। उसके प्राइवेट पार्ट के पास निशान दिखे थे। लेकिन उसने इस बारे में बहन से कुछ बोला नहीं क्योंकि मुझे डर था कि बहन कोई गलत अर्थ निकाल लेती।

वहीं भाई ने कहा कि मैं जाता था तो मुझे भगा देता था। बच्ची के भाई ने बताया कि जब वह कारखाने में बहन काे देखने जाता था ताे अशोक उसके साथ गाली गलौज करता था। पीटता भी था और वहां से भगा देता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *