छत्तीसगढ़प्रदेशराजनीतिरायपुर

जमीन के सौदे को लेकर आरोपों से घिरे जज बेटे को लेकर मंत्री अमरजीत भगत का आया बयान.. पढ़िए पूरी खबर

रायपुर।। पहाड़ी कोरवाओं की जमीन के सौदे को लेकर आरोपों से घिरे खाद्य मंत्री अमरजीत सिंह भगत के जज बेटे को लेकर मंत्री अमरजीत सिंह भगत का बयान आया है. इस मामले में मंत्री अमरजीत सिंह भगत का कहना है कि उनके बेटे ने जो जमीन खरीदी है वो विधिवत और न्याय संगत है. इस पर किसी भी तरह की अनियमितता का सवाल नहीं उठता है. अमरजीत भगत ने इस मामले में बीजेपी पर भी निशाना साधा है.

‘जो भी संपत्ति खरीदी है वो विधिवत और न्यायसंगत है’

जशपुर में कोरवा जनजाति की जमीन के फर्जी रजिस्ट्री मामले में सियासत तेज हो गई है. बीजेपी ने इस मुद्दे को लेकर मंत्री अमरजीत सिंह भगत और कांग्रेस पर आक्रामक रुख अपनाए हुए है. वहीं इस मामले में खाद्य मंत्री अमरजीत सिंह भगत का बयान भी आया है. मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि उनके बेटे ने जो भी संपत्ति खरीदी है वो विधिवत और न्यायसंगत है.

‘आदिवासी की जमीन आदिवासी ही खरीद सकता है’

भगत ने कहा कि आदिवासी की जमीन आदिवासी ही खरीद सकता है. इसमें आपत्तिजनक कुछ भी नहीं है. विक्रेताओं के नाम विशेष संरक्षित जनजातियों की सूची में नहीं है. उन्होंने कहा कि कलेक्टोरेट में इसकी सूची लगी हुई है. संपत्ति की खरीदी भी बैंक खातों के जरिए हुआ है, इसलिए इसमें किसी प्रकार की अनियमितता का सवाल ही नहीं उठता.

आगे विवाद नहीं चाहते, हम जमीन वापस करेंगे: मंत्री

मंत्री अमरजीत सिंह भगत ने कहा है कि इस मामले में काफी विवाद हो चुका है. जमीन को वापस कर देंगे. उन्होंने कहा कि जो पैसा विक्रेताओं के अकाउंट में दिए थे. वैसे ही अकाउंट में वो राशि वापस आएगी. जमीन वापस की जा रही है. इस पर कानूनी प्रकिया की जा रही है.

बीजेपी पर अमरजीत सिंह भगत ने किया करार हमला

कैबिनेट मंत्री अमरजीत भगत ने इस मामले में बीजेपी पर करारा हमला किया है. उन्होंने कहा है कि बीजेपी के कुछ नेताओं ने भी आदिवासी और विशेष संरक्षित आदिवासियों की जमीने खरीदी है. बीजेपी नेता उस जमीन को भी वापस करें.

‘बीजेपी को चुनौती, उनके नेता भी वापस करें जमीन’

अमरजीत भगत ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को खुली चुनौती है. उनके लोगों ने जो जमीन आदिवासियों से ली है, उसे वापस करने की घोषणा करें. अगर उनमें थोड़ी भी नैतिकता है, तो वो भी 100-150 एकड़ ज़मीन वापस करेंगे, जो उन्होंने विशेष संरक्षित जनजातियों से खरीदी है. अगर उनके पास सूची नहीं है तो हम उपलब्ध करवा देंगे.

नियम सभी पर लागू होते हैं’

जमीन सौदे को लेकर आरोपों से घिरे मंत्री अमरजीत सिंह भगत ने कहा है कि वे भी भारत के नागरिक हैं. कोई पाकिस्तान या बांग्लादेश के नागरिक नहीं हैं. उन्होंने कहा कि जो नियम सब पर लागू होता है. वो उनके परिवार पर भी लागू होता है. उन्होंने कहा कि यह नियम बीजेपी नेताओं पर भी लागू होता है.

क्या था मामला?

पहाड़ी कोरवाओं के जमीन के सौदे से जुड़ा यह मामला, बीते फरवरी माह में सामने आया था. जशपुर जिले के मनोरा तहसील के पांच पहाड़ी कोरवाओं ने कलेक्टर और एसपी से इस मामले में शिकायत की थी. शिकायत में प्रदेश के खाद्य और जिले के प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत के जज बेटे पर फर्जी तरीके से 24 एकड़ जमीन रजिस्ट्री करने का आरोप लगाया था. शिकायत में उन्होनें पंजीकृत जमीन को वापस दिलाने की गुहार भी लगाई थी.

बीजेपी ने राज्यपाल से की मामले की शिकायत

इस मामले में बीजेपी लगातार मंत्री अमरजीत सिंह भगत पर आक्रामक रुख अपनाए हुए है. बीजेपी ने कमेटी गठन कर पूरे मामले की जांच करवाई है. बीजेपी ने इस मामले में राज्यपाल से भी शिकायत की है. रविवार को बीजेपी कार्यालय एकात्म परिसर में प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने प्रेसवार्ता कर मंत्री भगत पर निशाना साधा. साय ने भगत का इस्तीफे की मांग की है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button