पंचायत समीक्षा

जिसने पाला, उसी को मारा डाला: पिता को बेटे ने हंसिया मारकर की हत्या..जानिए वजह

क्राइम न्यूज़ छत्तीसगढ़ जांजगीर चाम्पा प्रदेश

जांजगीर।।वो पिछले 48 घंटों से पुलिस को कई तरह की बातें बता रहा था, जांच टीम को उस पर पहले ही शक हो चुका था। मगर उसके झूट की लाठी ज्यादा देर टिक नहीं पाई। आखिरकार उसने अपना जुर्म कबूला और पुलिस को बताया- हां मैंने अपने पिता की हत्या की है। मामला जांजगीर जिले के देवरघटा गांव में हुई बुजुर्ग की हत्या से जुड़ा है। इस केस में हत्यारा मृतक का बेटा ही निकला। 26 मार्च को गांव के रहने वाले 60 साल के टीकाराम मनहर की लाश उसके घर से मिली थी।

पुलिस को पता चला था कि इसी दिन पिता और बेटे देवेंद्र के बीच विवाद हुआ था। शुरुआती जांच में देवेंद्र पुलिस को गुमराह करता रहा मगर फिर उसने बताया कि हंसिए से उसने अपने पिता पर 8-10 वार किए, बुजुर्ग की गर्दन और सीने का हिस्सा कट गया था। कुछ ही देर में उसकी मौत हो गई थी। घटना के बाद देवेंद्र घर से चला गया था। कुछ देर बाद पास ही रहने वाला टीकाराम का भांजा ठंडाराम घर आया तो उसने लाश को देखकर पुलिस को जानकारी दी थी।

जमीन और बहन की शादी से जुड़ा है मामला

देवेंद्र ने बताया कि उसका पिता आए दिन जमीन के हिस्से को लेकर उसके साथ बहस करता था। 26 मार्च की सुबह भी दोनों के बीच झगड़ा हुआ था। पुलिस की डायल 112 की टीम भी पहुंची थी। तब झगड़ा शांत करवाकर पुलिस लौट गई थी। देवेंद्र ने बताया कि उसकी बहन की शादी में रुपयों की जरूरत थी, मगर पिता रुपए नहीं दे रहे थे। इस बात पर भी बहस होती रहती थी। झगड़े वाले दिन देवेंद्र का गुस्सा बढ़ चुका था। उसने घर के कमरे में रखा हंसिया लिया और अपने ही पिता पर हमला कर दिया था। पुलिस ने अब देवेंद्र को गिरफ्तार कर लिया है। कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद उसे जेल भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *