पंचायत समीक्षा

ट्रक और बस की पार्किंग बनी: 100 करोड़ रुपये से अधिक की रिंग रोड…

छत्तीसगढ़ अम्बिकापुर प्रदेश सरगुजा संभाग

 

सरगुजा।। संभाग मुख्यालय अम्बिकापुर में 11 किलोमीटर की रिंग रोड का नव निर्माण कराया गया. इस निर्माण में सौ करोड़ से अधिक खर्च हुआ, लेकिन शहर की स्थिति जस की तस बनी हुई है. 40 फिट चौड़ी शानदार रिंग रोड का लाभ शहरवासियों को नहीं मिल पा रहा है और इसकी वजह है अनाधिकृत पार्किंग. रिंग रोड के एक किनारे में लाइन से ट्रक व बसों की कतार लगी रहती है. लोगों को बची हुई सड़क में से ही आवागमन करना पड़ता है. जिस वजह से कई बार दुर्घटना भी होती है और ट्रैफिक जाम की स्थिति बनती है।

अम्बिकापुर शहर के बाहरी हिस्से में ट्रैफिक कंट्रोल करने और भारी वाहनों से शहर को सुरक्षित रखने के उद्देश्य से 11 किलोमीटर की रिंग रोड का निर्माण किया गया था. लेकिन रिंग रोड में आये दिन बड़े सड़क हादसे होते रहते हैं और ट्रैफिक कंट्रोल के उद्देश्य से बनाई गई रिंग रोड में ही ट्राफिक जाम लग जाता है. अगर किसी को भीड़भाड़ वाली सड़क से ना जाकर रिंग रोड का खाली रास्ता तय कर कहीं जल्दी पहुंचना हो तो अम्बिकापुर की रिंग रोड में यह भी सम्भव नहीं है. यहां तो रिंग रोड में भी जाम लग जाता है. कारण हैं भारी वाहन ट्रक और बसों की बेतरतीब पार्किंग, पूरी रिंग रोड में ये लोग ट्रक और बस पार्क कर देते हैं. जिस वजह से सड़क में जगह कम बचती है और ट्रैफिक जाम की स्थिति बनती है. कई बार खतरनाक सड़क दुर्घटना भी हो जाती हैं. रात के अंधेरे में सड़क किनारे खड़े वाहन कई बार दिखाई नहीं देते और लोग टकराकर दुर्घटना ग्रस्त हो जाते हैं।

इस समस्या को लेकर कई बार स्थानीय जन प्रतिनिधियों ने पुलिस से व्यवस्था सुधारने शिकायत की है. लेकिन पुलिस भी कार्रवाई कर भूल जाती है और ट्रक चालक फिर अपनी मनमानी करते हैं. जबकी शहर में लगातार पुलिस की पेट्रोलिंग वाहन व डायल 112 की गाड़ियां घूमती रहती हैं, लेकिन इनके द्वारा नियमित हिदायत देने या कार्रवाई जैसे कदम नहीं उठाये जाते. बहरहाल देखना यह होगा कि क्या सरगुजा पुलिस इस समस्या से शहर को निजात दिलाने कोई ठोस कदम उठाएगी या ऐसे ही ट्रक मालिकों की मनमानी शहर में चलती रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *