पंचायत समीक्षा

दो साल के बाद इस गांव को मिला सरपंच, तहसीलदार ने दिलाई शपथ

छत्तीसगढ़ प्रदेश रायपुर

जगदलपुर।।दो साल के बाद आखिरकार कुम्हरावंड ग्राम पंचायत को सरपंच मिल ही गया. बिलासपुर हाईकोर्ट ने सरपंच निर्वाचन को वैध ठहराए जाने के बाद आज दशमीबाई बेलसरिया को पंचायत की जिम्मेदारी सौंपी गई. तहसीलदार पुष्पराज पात्र ने कुम्हरावंड पंचायत भवन में दशमीबाई बेलसरिया को सरपंच का भार सौंपते हुए पद और गोपनीयता की शपथ दिलवाई. सचिव ने पिछले 2 वर्ष का लेखा जोखा भी नए सरपंच के सामने पेश किया।

निर्विरोध निर्वाचन को ठहरा दिया था अवैध

जानकारी के अनुसार पंचायती राज चुनाव के दौरान निर्वाचन अधिकारी ने 7 जनवरी 2020 को ग्राम कुम्हरावंड के सरपंच के निर्वाचन प्रक्रिया के तहत दो प्रत्याशियों का नामांकन निरस्त कर दिया था. जिसके बाद दशमी बाई बेलसरिया निर्विरोध निर्वाचित हो गई थी. उसे निर्वाचित होने का प्रमाणपत्र भी जारी कर दिया गया था. इसके बाद मामले की शिकायत अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) से की गई. फिर देर रात तक चली कार्रवाई के बाद उन्होंने निर्विरोध निर्वाचन को अवैध ठहरा दिया था।

आदेश को हाईकोर्ट में दी थी चुनौती

इस आदेश को चुनौती देते हुए दशमी बाई बेलसरिया ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की, जिस पर हाईकोर्ट ने दशमी बाई के पक्ष में फैसला सुनाते हुए अनुविभगीय अधिकारी राजस्व के आदेश को निरस्त कर दिया।

तहसीलदार ने दिलाई शपथ

इस निर्णय के बाद दशमी बाई बेलसरिया कुम्हारवंड ग्राम पंचायत की सरपंच बनाई गई. आज तहसीलदार पुष्पराज पात्र ने उन्हें सरपंच का भार देते शपथ दिलाई. इस दौरान ग्राम पंचायत के उपसरपंच, पंच और ग्रामवासी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *