पंचायत समीक्षा

फर्जी लेफ्टिनेंट गिरफ्तार..आरोपी के कारनामे बेहद चौंकाने वाले.. पढ़िए पूरी खबर

देश उत्तर प्रदेश प्रदेश

उत्तर प्रदेश की अयोध्या पुलिस ने एक बड़ा चौंकाने वाला खुलासा किया है. पुलिस ने एक फर्जी लेफ्टिनेंट को गिरफ्तार किया है. आरोपी के पास से पुलिस को सेना की अलग-अलग वर्दियां, कैप, बेल्ट, लेफ्टिनेंट का फर्जी पहचान पत्र के अलावा जंगलों में युद्ध लड़ते समय पहनी जाने वाली खास तरह की ड्रेस भी बरामद हुई है।

पुलिस ने बताया कि आरोपी खुद के फोटो को एडिट कर अलग अलग हथियारों और बड़े बड़े नेताओं के साथ सोशल मीडिया पर पोस्ट करता था. सौरभ सिंह उर्फ दीपू सिंह को गिरफ्तार किया गया है. अब पुलिस इस मामले की गंभीरता से जांच करने में जुटी है।

आरोपी सौरभ सिंह मध्य प्रदेश के भिंड का रहने वाला है. ये अलग-अलग शहरों में घूम कर हाई प्रोफाइल लड़कियों को प्रभावित कर उन्हें अपने जाल में फंसाता था. कैंट पुलिस की गिरफ्त में आए सौरभ के पास से सेना की कई वर्दियां भी मिली हैं. मिलिट्री इंटेलिजेंस के इनपुट पर अयोध्या कैंट की पुलिस ने सेना के फर्जी लेफ्टिनेंट सौरभ को दबोचा है।

मिलिट्री इंटेलिजेंस की शाखा द्वारा कैंट पुलिस को सूचना मिली थी कि एक शख्स अपने आप को सेना का फर्जी लेफ्टिनेंट बताकर लोगों के साथ धोखाधड़ी कर रहा है. इस सूचना पर थाना कैंट पुलिस और एसओजी की टीम ने आरोपी पर लगातार निगरानी रखी और इस पकड़ने के लिए जाल बिछाया गया. फिर सहादतगंज चौराहे से इसे गिरफ्तार कर लिया गया।

पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि खुद को एक विशिष्ट व्यक्ति बताकर वो महिलाओं को जाल में फंसा कर शोषण करता था. सौरभ के जाल में कई महिलाएं फंसी थीं. किसी महिला को लेफ्टिनेंट तो किसी को कैप्टन बताकर वह अपने चंगुल में फंसाता था।

तलाशी के दौरान आरोपी के पास से सेना की कई तरह की यूनिफॉर्म मिली है. जंगल वार फेयर की ड्रेस, टोपी, जूते सेना के अधिकृत ड्रेस सब इसके पास से बरामद हुई है. पुलिस ने बताया कि इसके पास से एक आईडी कार्ड भी बरामद हुआ है, जिसमें इसका पद लेफ्टिनेंट लिखा है।

इसके मोबाइल से हमें कई प्रकार की फोटो भी मिली हैं. इन फोटो को एडिट कर खुद को हथियारों के साथ खड़ा दिखाया है. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ 419, 420 467, 468 धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है और विधिक कार्रवाई की जा रही है. पुलिस इसे एक बड़ी सफलता के तौर पर देख रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *