पंचायत समीक्षा

ब्रेकिंग सरगुजा संभाग :SDM पर अवैध वसूली समेत कई आरोप.. जांच शुरू.. जानिए क्या पूरा मामला

छत्तीसगढ़ जशपुर सरगुजा संभाग

जशपुर।।जिले के बगीचा की महिला एसडीएम ज्योति बबली कुजूर पर राजस्व विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए मोर्चा खोल दिया है. सभी कर्मचारियों ने कलेक्टर महादेव कावरे से शिकायत की।

जिसमें उन्होंने कहा कि कलेक्टर के जन्मदिन पर उपहार देने के लिए दो लाख रुपए की उगाही के लिए दबाव बनाया गया और रुपए वापस भी नहीं लौटाए गए. जिसकी शिकायत जब तहसीलदार ने विभागीय बैठक में की, तो उन्हें अपमानित कर बाहर भेज दिया गया. भड़के हुए राजस्व कर्मचारियों ने एसडीएम को हटाकर मामले की जांच और कार्रवाई की मांग की है।

विवाद को गहराता देखकर कलेक्टर महादेव कावरे ने एडीएम आईएल ठाकुर की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच टीम का गठन कर दिया है. जांच टीम बुधवार को बगीचा पहुंचकर दोनों पक्षों का बयान दर्ज करने में जुटी हुई है. कलेक्टर महादेव कावरे भी बगीचा पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया।

लाखों की अवैध वसूली

इस पूरे विवाद की शुरुआत दो दिन पहले उस समय हुई थी, जब तीन तहसीलदार और 30 पटवारियों ने कलेक्टर को एसडीएम ज्योति बबली कुजूर के खिलाफ ज्ञापन सौंपा. इसके माध्यम से उन्होंने कहा कि एसडीएम ने होली पर उच्च अधिकारियों को गिफ्ट देने के लिए 7 लाख और कलेक्टर महादेव कावरे के जन्मदिन पर तोहफा देने के लिए 2 लाख रुपए वसूल करने के निर्देश दिए थे।

एसडीएम थप्पड़ मारने की देती थी धमकी

राजस्व विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों ने महिला एसडीएम पर घरेलू सामान के बिल के भुगतान के लिए दबाव डालने की शिकायत की, साथ ही महिला पटवारियों ने एसडीएम पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे विभागीय बैठक में बच्चों को लेकर आने पर फटकारने के साथ ही थप्पड़ मारने की धमकी देती थीं।

एसडीएम के खिलाफ जांच शुरू

पूरे विवाद में कलेक्टर सहित आला प्रशासनिक अधिकारियों का नाम आने पर प्रशासनिक स्तर पर हड़कंप मचा हुआ है. मामला तूल पकड़ता देख कलेक्टर महादेव कावरे ने तत्काल तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया है. कमेटी ने बगीचा पहुंचकर बुधवार से जांच की प्रक्रिया शुरू भी कर दी है।

पहले दिन समिति ने तहसीलदार और पटवारियों का बयान दर्ज किया. कलेक्टर महादेव कावरे ने कहा कि एडीएम की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया गया है. कमेटी को एक सप्ताह के अंदर जांच रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है. जांच रिपोर्ट मिलने के बाद ही मामले में कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *