पंचायत समीक्षा

बड़ी खबर :क्या देश में टोटल लॉकडाउन लगाएगी मोदी सरकार..दूसरी लहर का कहर जारी..तीसरी आने की बारी…

देश कोरोना नई दिल्ली

नईदिल्ली।।देश में टोटल लॉकडाउन को लेकर इस समय खूब चर्चाएं हैं, हालाकि कई राज्य अपने यहां पहले ही लॉकडाउन, कर्फ्यू, नाइट कर्फ्यू, वीकेंड लॉकडाउन जैसे प्रतिबंध लगा चुके हैं, महाराष्ट्र, केरल, राजस्थान, कर्नाटक, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों में पाबंदियां लागू हैं।

वहीं बीते कुछ दिनों से राजनीतिक हल्कों के साथ-साथ एक्सपर्ट्स की ओर से भी नेशनल लॉकडाउन को लेकर आवाज़ आनी शुरू हुई है, कांग्रेस सांसद राहुल गांधी भी टोटल लॉकडाउन की वकालत कर चुके हैं, अमेरिका के टॉप हेल्थ एक्सपर्ट डॉ. एंटनी फाउची भी कह चुके हैं कि भारत को मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए अपनी तमाम ताकत को झोंक देना होगा, अगर लॉकडाउन लगा जाता है, तो वह संक्रमण की गति को कम कर देगा, ऐसे समय में सरकार को अपनी ओर से पूरी तैयारी करनी चाहिए।

दुनिया में इस वक्त हर रोज आने वाले नए मामलों में भारत का नाम ही सबसे ऊपर है। इस बीच गुरुवार को ही भारत में कोरोना के रिकॉर्ड मामले दर्ज किए गए हैं, गुरुवार को कुल 4.12 लाख केस सामने आए वहीं करीब 4 हजार मौतें भी हुई हैं। भारत में एक्टिव केस की संख्या भी तीस लाख से ऊपर बनी हुई है, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु उन राज्यों में शामिल हैं, जहां सबसे अधिक केस दर्ज किए जा रहे हैं।

इधर एक्सपर्ट्स तीसरी लहर को लेकर चेतावनी भी दे रहे हैं, भारत सरकार के ही प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार ने बीते दिन कहा था कि भारत में कोरोना की तीसरी लहर का आना निश्चित है, इसे टाला नहीं जा सकता, हालांकि ये कब आएगी इसका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है।

इधर गुरुवार को ही सुप्रीम कोर्ट ने भी तीसरी लहर को लेकर अपनी चिंता जताई है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सरकार को अभी से तैयारी करनी होगी, क्योंकि अगर तीसरी लहर बच्चों पर असर डालती है तो बच्चों का इलाज, उनके मां-बाप का क्या होगा, ये सब सोचना होगा, साथ ही डॉक्टर्स, नर्स का बैक-अप प्लान भी तैयार करके रखना होगा, तभी इसका सामना किया जा सकेगा। सवाल ये है कि क्या मोदी सरकार ऐसे हालातों में देशव्यपाी लॉकडाउन लगा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *