15 दिनों बाद 7 बैंकों की चेकबुक हो जाएगी अवैध, आपका बैंक खाता हैं तो रहे अलर्ट

जानकारी देश प्रदेश

1 अप्रैल 2021 से 7 बैंक अकाउंट अकाउंट के चेकबुक अमान्य हो जाएंगे. ये वो बैंक हैं जिनका किसी दूसरे बैंक में विलय हो चुका है. इसलिए अगर आपके पास उन बैंकों की चेकबुक है तो आपको जागरूक होने की जरूरत है. यानी अगर आपका इन 7 बैंक में से किसी में भी खाता है तो फटाफट अपनी नई चेक बुक और IFSC कोड का पता कर लें.

31 मार्च के बाद चेकबुक बेकार

देना बैंक और विजया बैंक का विलय बैंक ऑफ बड़ौदा में हो चुका है. ये मर्जर 1 अप्रैल 2019 से लागू है. पहली अप्रैल से इनमें बैंक ऑफ बड़ौदा के चेकबुक और पासबुक ही चलेंगे. ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के साथ मर्जर हो चुका है. Punjab National Bank एलान कर चुका है कि उसमें विलय हुए दोनों बैंको के चेकबुक 31 मार्च, 2021 तक ही मान्य रहेंगे

Dena Bank, Vijaya Bank, Corporation Bank, Andhra Bank, Oriental Bank of Commerce, United Bank और Allahabad Bank.

आंध्रा और कॉरपोरेशन बैंक के ग्राहक यहां करें संपर्क

आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक के अकाउंट होल्डर को अब बैंकों के आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन के जरिए अपने नए आईएफएससी कोड जान जा सकते हैं. इसके लिए आपको आधिकारिक वेबसाइट www.unionbankofindia.co.in पर जाना होगा. इसके बाद यहां आपको amaigamation Centre पर क्लिक करना होगा. इसके बाद आप अपडेट आईएफएससी कोड जान सकेंगे. इसके अतिरिक्त ग्राहक बैंक के कस्टमर केयर नंबर 18002082244 या 18004251515 या 18004253555 पर फोन कर सकते हैं. या फिर SMS के जरिए जानकारी हासिल कर सकते हैं. इसके लिए आपको IFSC <OLD IFSC> लिखकर 9223008486 पर मैसेज भेजना होगा.

IFSC Code की जरूरत क्यों होती है

आईएफएससी कोड के बदलाव का खाताधारकों पर असर पड़ेगा. हालांकि तुरंत आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है. अभी इन शाखाओं के आईएफएससी कोड की आखिरी तारीख 31 मार्च 2021 है. बैंक ने इस बाबत सभी ग्राहकों को सूचना भी दी है. आपको बता दें ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के लिए बैंक अकाउंट नंबर के साथ बैंक का IFSC यानी इंडियन फाइनेंशियल सिस्टम कोड एड करना पड़ता है. भारत में बैंकों की संख्या बहुत ज्यादा है और इस स्थिति में सभी बैंकों के ब्रांच को याद नहीं रखा जा सकता है. वहीं, MICR कोड को मैगेनेटिक इंक कैरेक्टर रिक्निशन (Magnetic Ink Character Recognition) होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *