CG मॉल में घूमने गए कलेक्टर से युवक की मुलाकात, कहा- सर मेरे गांव में बहुत से युवा बरोजगार हैं, फिर कलेक्टर ने उठाया ये कदम, मिला रोजगार

मूनगेली. जिले के युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए जिला प्रशासन के द्वारा अभिनव पहल करते हुए सशक्त युवा सशक्त मुंगेली अभियान के अंतर्गत ऑनलाइन आकांक्षा प्लेटफॉर्म की शुरूआत की गई है. ऑनलाइन आकांक्षा प्लेटफार्म का शुभारंभ जिला कलेक्टोरेट स्थित जनदर्शन कक्ष में किया गया. इस दौरान जिला प्रशासन मुंगेली और एनआईबीएफ एडुटेक प्राइवेट मिलिटेड रायपुर के बीच मेमोरेंडम ऑफ अन्डरस्टेंडिग (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए. इसके बाद जिले और जिले के बाहर के निजी क्षेत्रों के नियोजकों के द्वारा प्रेजेन्टेशन के माध्यम से उपस्थित विभिन्न महाविद्यालयों, पॉलिटेक्निक और आईटीआई के प्राचार्यों और छात्र-छात्राओं को प्रश्नोत्तरी के माध्यम से रोजगार एवं स्वरोजगार की दिशा से संबंधित महत्वपूर्ण आवश्यक जानकारी दी गई

कलेक्टर राहुल देव ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप जिला प्रशासन द्वारा जिले के युवाओं को रोजगार और स्वरोजगार से जोड़ने के लिए सतत प्रयास किया जा रहा है. इसी कड़ी में जिला प्रशासन द्वारा सशक्त युवा सशक्त मुंगेली अभियान के अंतर्गत आकांक्षा प्लेटफॉर्म का शुभारंभ किया गया. इसके माध्यम से जिले के युवाओं को रोजगार से जोड़ने की पहल की जाएगी. जिला प्रशासन निजी नियोक्ताओं और युवाओं के मध्य सेतु की तरह काम करेगा. रोजगार के लिए निर्धारित मापदण्ड के अनुरूप युवाओं को प्रशिक्षित भी किया जाएगा. इसके लिए युवाओं को सबसे पहले आकांक्षा प्लेटफॉर्म में अपना पंजीयन कराना होगा.

कलेक्टर ने बताया कैसे आया दिमाग में ये प्लान

कलेक्टर राहुल देव ने उपस्थित लोगों को संबोधन के दौरान आकांक्षा के कॉन्सेप्ट को क्लियर करते हुए बताया कि, हाल ही में वे बिलासपुर जिले एक मॉल में गए हुए थे. इस दौरान उनकी मुलाकात वहां कार्यरत मुंगेली जिले के एक युवक से हुई. उस युवक ने कलेक्टर का अभिवादन करते हुए उन्हें पहचान लिया. इस दौरान उस युवक ने कलेक्टर से कहा कि, सर मैं तो जैसे तैसे मॉल में काम कर रोजी-रोटी कमा रहा हूं, मेरे गांव में बहुत से पढ़े लिखे युवा बेरोजगार हैं. आप लोग इनके लिए कुछ करते क्यों नहीं. कलेक्टर ने कहा कि यही से फिर उनके दिमाग मे आकांक्षा जैसे प्लेटफॉर्म का ख्याल आया है और इसका आगाज भी हो गया. कलेक्टर का कहना है कि प्रशासन जॉब क्रिएट तो नहीं कर सकता. लेकिन युवाओं को रोजगार से जोड़ने पहल जरूर कर सकता है. युवा रोजगार पा सकें इसके लिए प्रशिक्षण भी दे सकता है और इस दिशा में सीएम भूपेश बघेल के मंशानुरूप कार्य जारी है

Leave a Reply

Your email address will not be published.