35 दिन तक नहीं चलेंगी 200 गाड़ियां…

रायपुर।।छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में नगर निगम के जनप्रतिनिधि और अफसर 35 दिनों तक अपने सरकारी वाहनों का इस्तेमाल नहीं करेंगे। सभी साइकिल से नगर निगम के दफ्तर पहुंचेंगे, इसके बाद बसों में लोगों की समस्याएं सुनने रवाना होंगे। शहर के अलग-अलग इलाकों में जाकर नगर निगम की टीमें शिविर लगाएगी। इन शिविरों में जनता की परेशानियों का समाधान किया जाएगा। इस अभियान को नाम दिया गया है तूहंर सरकार तुहंर द्वार (आपकी सरकार आपके द्वार) मंगलवार से इसकी शुरुआत होने जा रही है। 27 जनवरी से लेकर यह अभियान 2 मार्च तक जारी रहेगा ।

माहापौर ने कहा कि इस अभियान की वजह से 200 सरकारी गाड़ियों का इस्तेमाल नहीं होगा। इनकी जगह साइकिल और बस का इस्तेमाल होगा। मैं भी अपनी कार त्यागकर साइकिल से नगर निगम मुख्यालय आउंगा और फिर से सभी बसों में बैठकर शहर के मुहल्लों के लिए रवाना होंगे। इसके लिए दो सिटी बसों का इंतजाम किया गया है। हम लोगों की समस्याओं को उनके क्षेत्र में ही सुनने समझने और उनके समाधान करने की कोशिश करेंगे। इस अभियान की शुरुआत रायपुर नगर निगम परिषद के एक साल के कार्यकाल के पूरा होने की वजह से किया जा रहा है।

इन समस्याओं से जुड़े शिविर लगेंगे

स्वास्थ्य एवं सफाई व्यवस्था, जलप्रदाय और निजी नल कनेक्शन, पावर पंप और नई पाईप लाईन विस्तार कार्य, विद्युत व्यवस्था, स्ट्रीट लाइट वगैरह से जुड़े काम, नगर निवेश, लोककर्म विभाग, राजस्व विभाग, खाद्य विभाग राशन कार्ड, एनयूएलएम व्यवसाय के ऋण संबंधी कार्य,श्रम विभाग श्रमिक पंजीयन कार्य, नामांतरण प्रकरण से संबंधित कार्य, प्रधानमंत्री आवास योजना से जुड़ी समस्याओं को अफसर और नेता सुनेंगे।

अधिकारियों ने बताया कि लोगों के आवेदन और समस्या का निदान 27 से 2 मार्च के बीच किया जाएगा। शिविर में शहर के महापौर , सभापति प्रमोद दुबे , एमआईसी सदस्य, नगर निगम के सभी 10 जोन के अध्यक्ष, वार्डों के पार्षद, एल्डरमेन, नगर निगम के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहेंगे। शिविर में प्रधानमंत्री आवास योजना से संबंधित आवेदनों के निराकरण के लिए संबंधित अफसरों की भी ड्यूटी रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.