Cg Breaking इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए खुशखबरी, मिलेंगे पसंद के कॉलेज, इस तारीख को शुरू होगी प्रवेश प्रक्रिया

Cg Breaking इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए खुशखबरी, मिलेंगे पसंद के कॉलेज, इस तारीख को शुरू होगी प्रवेश प्रक्रिया

रायपुर। Engineering college Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम प्रवेश के लिए दो चरणों में काउंसलिंग की प्रक्रिया पूरी होने के बाद 7900 सीटें खाली रह गई है। सीटें भरने के लिए अब छात्रों को अपनी पसंद के अनुसार कालेज चुनने का मौका दिया जा रहा है।

इसमें संस्थावार काउंसलिंग प्रक्रिया के तहत छात्र पसंद के कोई एक कालेज चुनेंगे।

उच्च शिक्षा विभाग मेरिट सूची कालेजों को भेज देगा। इसके बाद वह सीधे प्रवेश दे सकेंगे। पंजीयन प्रक्रिया 10 अक्टूबर को हो गया है। 12 अक्टूबर को कालेजों का मेरिट सूची भेजेंगे। 14 व 15 अक्टूबर प्रवेश प्रक्रिया होगी। वहीं दूसरे चरण की संस्थावर काउंसलिंग प्रक्रिया 17 को होगी। इसके बाद प्रवेश प्रक्रिया बंद कर दी जाएगी। बता दें राज्य में 11514 इंजीनियरिंग की सीटें हैं। इसमें से 3500 ही भर पाईं हैं। ऐसा नहीं है कि इंजीनियरिंग सीटों की स्थिति इस वर्ष ही ऐसी हुई है। पिछले वर्ष भी 49 प्रतिशत सीटों पर ही प्रवेश हो पाए थे। जबकि 51 प्रतिशत सीटें खाली ही रह गई थी। वहीं तीन कालेज जीरो ईयर घोषित हुए थे।

नर्सिंग सीटों को 12वीं अंक के आधार पर भरने की मांग

बीएससी नर्सिंग में प्रवेश के लिए दो काउंसलिंग पूरा होने के बाद 5077 सीटें अब भी खाली है। कई कालेजों में गिनती के ही प्रवेश हुए हैं। ऐसे में 12वीं अंक के आधार पर सीटें भरने के लिए मांग की जा रही है। निजी नर्सिंग कालेज एसोसिएशन ने चिकित्सा शिक्षा संचालक को इसके लिए पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने बताया कि 72 प्रतिशत सीटें अभी भी रिक्त है। जबकि कई छात्र प्रवेश लेने के इच्छुक हैं। परसेंटाइल ना होने की वजह से वह प्रवेश नहीं ले पा रहे हैं। ऐसे में मेरिट के आधार पर प्रवेश की अनुमति देने की मांग की है।

महिला कालेज में खुलेंगा शोध केंद्र

शासकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय रायपुर में रसायन विषय में शोध केंद्र खुलेंगे। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय द्वारा इसे मान्यता देने की अनुमति दे दी गई है। महाविद्यालय ने बताया कि यहां शिक्षा के साथ ही कई विषयों पर शोध हो रहे हैं। रसायन विषय पर शोध केंद्र को मान्यता से इसका लाभ छात्राओं को होगा। बता दें विश्वविद्यालय द्वारा कालेजों में शोध केंद्र खोलने को लेकर लगातार कालेजों के साथ मिलकर लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। ताकि शिक्षा गुणवत्ता और बेहतर हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen + thirteen =