सीईओ से रंगदारी मांगने की आरोपी महिला अधिवक्ता गिरफ्तार

मेरठ। गुरुग्राम की कूडा उठाने वाली कंपनी के सीईओ से रंगदारी मांगने के मामले में पुलिस ने महिला अधिवक्ता रेनू सिंह राणा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वहीं अन्य नामजद आरोपियों की तलाश में पुलिस ने रात में कई जगहों पर दबिश दी। लेकिन आरोपी हाथ नहीं आए हैं। अन्य फरार आरोपियों के नहीं पकड़े जाने पर कंपनी के सीईओ ने जान का खतरा बताया है। बता दें कि दो दिन पूर्व रंगदारी नहीं देने पर कूड़ा उठाने वाली कंपनी के सीईओ पर हमला किया गया था। सीईओ को बचाने आए अन्य कर्मचारियों से लोगों ने हाथापाई की थी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर रंगदारी, मारपीट और बलवा करने का मुकदमा दर्ज किया है। गुरुग्राम की कंपनी ट्रायोटेप टेक्नालाजी प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ रवि द्विवेदी हैं। उन्होंने बताया कि पिछले माह उनकी कंपनी को मेरठ में तीन जगह नौचंदी मैदान, कंकरखेड़ा और लोहिया नगर से कूड़ा उठाने का ठेका मिला नगर निगम से मिला है। नौचंदी मैदान से कूड़ा उठाने का कुछ लोगों ने विरोध किया और पांच लाख रुपये की डिमांड की। आरोप है कि जब से ठेका मिला है। उनसे पांच लाख रुपये मांगे जा रहे हैं। गत शनिवार को वह कंपनी के कर्मचारियों के साथ नौचंदी मैदान पर थे। तभी कुछ लोगों ने कूड़ा उठाने का विरोध करते हुए उन पर हमला कर दिया। उनका मोबाइल छीन लिया और कपड़े फाड़ दिए। अन्य कर्मचारियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। पुलिस के पहुंचने से पहले हमलावर भाग गए। हालांकि कुछ लोगों को पुलिस ने पकड़ लिया। थाना प्रभारी लक्ष्मण सिंह वर्मा ने बताया कि रवि द्विवेदी की तहरीर पर महिला अधिवक्ता रेनू सिंह राणा, जुमेला, हसीना,अजीत,मर्जीना,राकेश और गोलू के खिलाफ रंगदारी मांगने, हमला और बलवा करने का मुकदमा दर्ज किया है। उसके बाद से ही आरोपियों की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा था। रवि द्विवेदी ने बताया कि नौचंदी मैदान के पास कुछ लोग रहते हैं, जो कूड़ा बीनने का काम करते हैं। आरोप है कि रेनू सिंह राणा ने उनको अपने साथ मिला लिया। पिछले दिनों उन्होंने कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया था। पुलिस ने रविवार को कार्रवाई करते हुए महिला अधिवक्ता रेनू सिंह राणा को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं अन्य आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 − fourteen =