‘मेरे साथ 2 दिन गुजार लो, नहीं लूंगा रिश्वत’ अधिकारी ने महिला से की अश्लील हरकत, पति के सामने ही…

मध्यप्रदेश से एक बड़ी खबर सामने आई है। मध्यप्रदेश के इंदौर में पदस्थ सहायक खनिज अधिकारी पर एक मामले में रिश्वत मांगने का आरोप लगा। जब महिला 25 हजार रुपये रिश्वत के साथ अधिकारी के पास पहुंची तो अधिकारी ने उससे बड़ी शर्मनाक डिमांड की। अधिकारी ने कहा कि मेरे साथ दो दिन बिता लो तो तुम्हें रिश्वत के पैसे नहीं देने पड़ेंगे।

मध्यप्रदेश से एक बड़ी खबर सामने आई है। मध्यप्रदेश के इंदौर में पदस्थ सहायक खनिज अधिकारी पर एक मामले में रिश्वत मांगने का आरोप लगा। जब महिला 25 हजार रुपये रिश्वत के साथ अधिकारी के पास पहुंची तो अधिकारी ने उससे बड़ी शर्मनाक डिमांड की। अधिकारी ने कहा कि मेरे साथ दो दिन बिता लो तो तुम्हें रिश्वत के पैसे नहीं देने पड़ेंगे। इस मामले में महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।

मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को आरोपी खनिज अधिकारी लुणावत की जमानत याचिका खारिज कर दिया। इस मामले में रतलाम न्यायालय की न्यायाधीश ज्योति राठौर ने जेल भेजने के आदेश जारी कर दिया है। बताया गया कि महिला ने आरोपी सहायक खनिज अधिकारी के खिलाफ रतलाम की छेड़छाड़ का केस दर्ज कराया था। इसके बाद रतलाम पुलिस ने आरोपी लुणावत के खिलाफ 19 मई को केस दर्ज किया था। उक्त प्रकरण का चालान मंगलवार को प्रस्तुत होने के बाद जमानत के लिए पहुंचे सहायक खनिज अधिकारी को न्यायाधीश ने आवेदन निरस्त कर जेल भेजने के आदेश जारी कर दिए

दो दिन बिता लोगी तो पैसे नहीं लूंगा

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये घटना 30 मार्च 2022 की है। इस दिन आरोपी लुणावत ने महिला को रिश्वत के 25 हजार रुपए के साथ बुलाया था। इस पर वह रतलाम के एक मंदिर के पास पहुंची। इस दौरान महिला पति व बच्चे के साथ कार में थी। इस दौरान लुणावत ने महिला के पति को पानी की बोतल लेने भेजा। फिर उसके जाते ही महिला को कहा कि मेरे साथ दो दिन बिता लोगी तो 25 हजार रुपए नहीं लूंगा।

पति के सामने पकड़ा महिला का हाथ

आरोपी अधिकारी की इस घिनौनी बात पर महिला रोने लगी। तभी उसके पति आ गए और कारण पूछा। इस बीच लुणावत ने महिला का हाथ पकड़ा और पीठ थपथपाकर पति को कहा कि तुम्हारी पत्नी को मेरे पास छोडक़र चले जाओ तो आगे से पैसे की जरूरत नहीं पड़ेगी। केवल दो दिन की बात है। अधिकारी की ये बात सुनते ही पति-पत्नी आक्रोशित हो गए और वहां से चले गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen + 11 =