BREAKING NEWS : कुत्ते ने काटा 7 महीने के मासूम बच्चे को, हुई दर्दनाक मौत..

नोएडा. पालतू हों या स्ट्रीट डॉग, इनके हमले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. नोएडा में एक 7 महीने के मासूम पर स्ट्रीट डॉग के हमले का मामला सामने आया है. 7 महीने के बच्चे को स्ट्रीट डॉग ने नोच खाया जिससे मासूम के पेट की आंते बाहर आ गई और उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। बताया जा रहा है कि नोएडा के थाना सेक्टर 39 क्षेत्र के लोटस ब्लू बर्ड सोसाइटी में बच्चे के माता-पिता मजदूरी का काम कर रहे थे. मां ने बच्चे को जमीन पर कपड़ा बिछा कर सुलाकर रखा था, तभी स्ट्रीट डॉग ने बच्चे पर हमला कर दिया. मासूम को एक निजी अस्पताल में भर्तीकराया गया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका।

बता दें कि नोएडा और गाजियाबाद में पिछले कुछ दिनों में कुत्तों के हमले लगातार बढ़ रहे थे जिसको लेकर नगर निगम की बोर्ड बैठक में प्रस्ताव पास किया गया कि पिटबुल, रोटविलर जैसे खतरनाक कुत्तों को पूर्ण तरीके से नगर निगम द्वारा प्रतिबंध किया जाएगा. इससे पहले 8 सितंबर को राज नगर के सेक्टर 23 इलाके में एक पिटबुल कुत्ते ने 10 साल के बच्चे पर हमला किया था बच्चे के मुंह पर डेढ़ सौ से अधिक टांके आए थे. कुत्ता मालिक पर 5 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया था.

गौरतलब है कि इससे पहले नोएडा स्थित राजनगर एक्सटेंशन की चार्म्स कैसल सोसायटी की लिफ्ट में एक बीगल डॉग ने मासूम बच्चे पर हमला कर दिया था. घटना में बच्चे को चोट आई थी. इसके बाद डॉग की अड़ियल मालकिन का वीडियो तेजी से वायरल हुआ था.

वहीं, लखनऊ के पिटबुल डॉग अटैक को भी नहीं भुलाया जा सकता है. जिसके हमले में एक बुजुर्ग महिला की मौत हो गई थी. यहां एक पालतू पिटबुल डॉग ब्राउनी ने अपनी मालकिन पर हमला कर दिया था. उन्हें नोंच-नोंच कर मार डाला था. जिसके बाद 14 जुलाई को नगर निगम की टीम ने डॉग को एनिमल बर्थ कंट्रोल सेंटर अस्पताल भेज दिया था.

इसके बाद गत 29 अगस्त को नवी मुंबई के नजदीक पनवेल के इंडियाबुल्स ग्रीन मरीगोल्ड सोसाइटी की लिफ्ट में एक जर्मन शेफर्ड नस्ल के पालतू डॉग ने जोमैटो डिलीवरी बॉय पर हमला कर दिया था. घटना में डिलीवरी बॉय के प्राइवेट पार्ट को डॉग ने काट लिया था.

कानपुर में भी एक कुत्ते द्वारा एक गाय के बछड़े के जबड़े को पकड़ने का भी वीडियो खूब वायरल हुआ था. इसमें को कुत्ता का मालिक लगातार बछड़े के जबड़े को छुड़ाने की कोशिश करता रहा लेकिन कुत्ता नहीं माना. अंत में काफी मशक्कत के बाद बछड़े की जान बच सकी थी.

नोएडा और गाजियाबाद में इतनी कुत्ते काटने की घटनाएं बढ़ गई हैं कि लोग अब इन कुत्तों से भी डर रहे हैं. गाजियाबाद नगर निगम के अधिकारी ने साफ तौर पर बताया कि अब एक घर में दो से ज्यादा कुत्ते अब आप नहीं रख पाएंगे. जिन लोगों के पास दो से ज्यादा कुत्ते हैं उन लोगों को अब पहले रजिस्ट्रेशन कराना होगा और उसके बाद घर के हिसाब से कुत्तों को रखने की परमिशन दी जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 2 =