CG सरकार ने ” किसान टोकन तुहर हाथ ” एप्प किया लांच , टोकन के अलावा बैंक खाता डिटेल , भूमि रकबा की भी मिलेगी जानकारी

रायपुर – छत्तीसगढ़ में एक नवंबर से धान खरीदी की शुरुआत की जाएगी। समर्थन मूल्य पर धान खरीदने सरकार जोर – शोर से तैयारी कर रही है। इस बीच प्रदेश के सभी जिलों में भी तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। किसानों के खरीदी केंद्र पहुंचने से लेकर बारदाने टोकन सारी व्यवस्थाएं की जा रही है। वहीं किसानो को लम्बी कतार से छुटकारा दिलाने सरकार एक नई व्यवस्था करने जा रही है। जिसके तहत टोकन व्यवस्था में सुधार करते हुए “टोकन तुंहर हाथ” एप लॉन्च किया गया है। इस ऐप के माध्यम से अब घर बैठे किसान टोकन लेकर नम्बर लगा सकते है।

” किसान टोकन तुहर हाथ ” मोबाइल एप्प लांच – हर साल धान बेचने के लिए किसानों को टोकन के लिए धान खरीदी केंद्रों के चक्कर लगाने पड़ते थे। जिसे कारण खरीदी केंद्रों में किसानों की लंबी कतारें लग जाती। किसान दिन रात जागकर अपनी बारी का इंतजार करते थे। जिसके चलते उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। इस समस्या को समाप्त करने के लिए शासन की ओर से “टोकन तुंहर हाथ” मोबाइल ऐप लॉन्च किया गया है। इस ऐप को किसान अपने मोबाइल में डाउनलोड कर आसानी से टोकन प्राप्त कर सकते हैं। किसानों को अब घर बैठे ही टोकन और धान बिक्री का सही समय उन्हें मोबाइल पर ही मिल जाएगा। इसके अलावा इस एप में जिले में खाद बीज से सम्बंधित जानकरी भी किसानों को मिलेगी।

खरीदी केंद्रों में किसानों और आपरेटरों को दी जाएगी जानकारी – इस ऐप को चलाने के लिए सोसायटी के कम्यूटर ऑपरेटरों के माध्यम से किसानों को धान खरीदी केंद्रों में ट्रेनिंग दी जाएगी। जिस तरह से धान और मक्का खरीदी के लिए सोसाइटी में पंजीयन के पश्चात टोकन आवश्यक है। इस तरह टोकन लेने के लिए अब किसानों को मोबाइल में ऐप डाउनलोड करना पड़ेगा। जिसके माध्यम अपने अनुसार समय निर्धारित कर टोकन के लिए अप्लाई कर सकेंगे। वही पंजीयन के आधार पर सोसायटी उन्हें मोबाइल पर ही टोकन भी जारी करेगी। इसके लिए कुछ निर्देशों का पालन करना होगा।जो एप में दिया गया है। इसके माध्यम से किसानों को समय और श्रम की बचत होगी। जिससे वे निर्धारित समय पर अपने धान को खरीदी केंद्र तक पहुंचा सकेंगे।

टोकन के साथ – साथ अन्य जानकारी भी – इस एप के माध्यम से किसानों को टोकन सबंधी जानकारी के अलावा, भूमि रकबा सबंधित जानकारी मिल सकेगी, इसके साथ किसान अपने बैंकों खाते में धान की राशि भी चेक कर सकेंगे, धान खरीदी , और किसानों को शासन के अन्य निर्देश भी इस एप के माध्यम से मिल सकेगी। एक किसान को सिर्फ 3 टोकन ही जारी किए जाएंगे। धान बेचने के लिए किसान को दिनांक का विकल्प चयन करना होगा।

बालोद में हुए हादसे से लिया सबक, धान व्यापारी और बिचौलियों पर लगेगी लगाम – दरअसल बालोद जिले के सेवा सहकारी समिति पिपरछेड़ी खरीदी केंद्र में टोकन के लिए साल 2021 में भगदड़ मच गई थी। इस भगदड़ में 17 किसान घायल भी हुए थे। तो कुछ को गम्भीर चोटें भी आई थी। एक ही दिन टोकन लेने के लिए गांव के सैकड़ों किसान पहुंच गए थे, किसानो को रोकने के लिए खरीदी केंद्र का दरवाजा बंद कर दिया गया था। केंद्र का दरवाजा बंद देखकर किसान आक्रोशित हो गए। और दरवाजा तोड़कर अंदर घुस गए। इस भगदड़ से सबक लेकर शासन ने यह एप तैयार किया है। वहीँ इस एप्प के माध्यम से धान व्यापारी और बिचौलियों पर लगाम लगाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 − 10 =