Breaking – छह साल की बच्ची से डिजिटल रेप, रोते हुए भाई-बहन को सुनाई आपबीती.. FIR दर्ज

गाजियाबाद के इंदिरापुरम में नाबालिग भाई-बहन के साथ घर में मौजूद छह साल की मासूम बच्ची के साथ किराएदार ने डिजिटल रेप को अंजाम दिया। आरोपी बच्ची को बहला-फुसलाकर छत पर ले गया और धमकी देकर वापस भेजा।

इंदिरापुरम थाना क्षेत्र में शनिवार शाम को नाबालिग भाई-बहन के साथ घर पर मौजूद छह वर्षीय बच्ची के साथ किरायेदार द्वारा डिजिटल दुष्कर्म का मामला सामने आया है। मां की रात्रि ड्यूटी पर होने के कारण आरोपी बच्ची को बहला-फुसलाकर कर छत पर ले गया जहां उसने घटना को अंजाम दिया। इस घटना के बाद आरोपी फरार हो गया। परिजनों द्वारा इंदिरापुरम थाने में तहरीर दी गई है। पुलिस ने बताया कि बच्ची को मेडिकल जांच के लिए भेज दिया है।

पुलिस फरार आरोपी की तलाश में जुटी है। एसपी ट्रांस हिंडन ज्ञानेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि थाना इंदिरापुरम क्षेत्र के कस्बे कनावनी में छह वर्षीय मासूम पीड़िता अपनी मां, 13 वर्षीय बहन और आठ वर्षीय भाई के साथ किराए के मकान में रहती है। बच्ची के पिता का देहांत हो चुका है। मां परिवार का पालन-पोषण करने के एक निजी अस्पताल में नर्स की नौकरी करती हैं।

शनिवार को बच्ची की मां रात्रि की शिफ्ट में नौकरी करने अस्पताल गई थी। इस दौरान पड़ोस में रहने वाला 28 वर्षीय किरायेदार अजय बच्ची को बहला फुसलाकर कर मकान की छत पर ले गया। जहां उसने मासूम के साथ डिजिटल दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। घटना के बाद मासूम को आरोपी द्वारा डरा धमकाकर इस घटना का किसी के सामने जिक्र नहीं करने के लिए भी कहा गया। बच्ची ने जानकारी घर पर मौजूद अपनी बहन और भाई को दी।

क्या होता है डिजिटल रेप

डिजिटल रेप का मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि यौन उत्पीड़न इंटरनेट के माध्यम से किया गया हो। डिजिटल रेप शब्द दो शब्दों डिजिट और रेप को जोड़कर बना है। अंग्रेजी शब्दकोश में डिजिट उंगली, अंगूठा, पैर की उंगली को भी कहा जाता है। अगर कोई शख्स महिला की बिना सहमति के अपनी अंगुलियों या अंगूठे से छेड़ता है तो यह डिजिटल रेप कहलाता है। विदेश की तरह भारत में इसके लिए कानून बना है।

@सोर्स – सोसल मीडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − one =