ब्रेकिंग – नातिन ने प्रेमी संग मिलकर नानी का किया कत्ल, फिर नदी में फेंकी लाश, पुलिस ने किया खुलासा…

मध्य प्रदेश के बैतूल में एक सनसनीखेज मामला सामने आया जहां नातिन के प्रेमी ने नानी को रास्ते से हटाने के लिए हत्या कर लाश नदी में फेंक दी थी. बैतूल पुलिस ने नातिन उसके प्रेमी और दोस्त तीनों को जेल भेज दिया है.घटना महीने भर पुरानी है. अब पता चला कि महिला की मौत दुर्घटना या सामान्य तौर पर नहीं हुई थी. बल्कि ये हत्या का केस है.

एक महीने पहले बैतूल में तवा नदी के बहाव में एक बुजुर्ग महिला का शव बरामद हुआ था. उसे पहचान पाना भी मुश्किल था. पहचान के नाम पर केवल एक टैटू था जो उसके हाथ पर गुदा हुआ था. उसके जरिए मृतका की बेटी ने इस टैटू को पहचान लिया और पुलिस को बताया कि मृतका उसकी मां है जो एक महीने से लापता थी. लेकिन उसका शव नदी में कैसे मिला ये कोई नहीं जानता था. हत्या या हादसे की जांच में जुटी पुलिस ने गहराई से तफ्तीश जारी रखी तो ये एक निर्मम हत्या का मामला निकला. वृद्ध महिला के हत्यारे निकले उसकी नातिन और नातिन का बॉयफ्रेंड निकले.

ऐसे हुई थी शव की पहचान

बैतूल में चोपना थानाक्षेत्र के गोलईबुज़ुर्ग गांव के पास करीब महीना भर पहले तवा नदी में पुलिस को एक वृद्ध महिला का शव मिला था. शव देखने पर पहली बार मे ही ये हत्या का मामला लग रहा था क्योंकि पूरे शव पर गहरे घाव के निशान साफ नजर आ रहे थे. लेकिन सवाल ये था कि ये शव किसका है , नदी में कहां से बहते हुए आ रहा है और इसकी पहचान कैसे होगी. शव की शिनाख्त के लिए केवल एक सुराग मिला और वो था एक टैटू जो मृतिका के हाथ पर गुदा हुआ था.

मां के गुम होने की शिकायत बेटी ने की

पुलिस ने टैटू की तस्वीर सभी थानों में भेजकर शिनाख्त का प्रयास किया. लाश मिलने के 25 दिन बाद यानी 25 अक्टूबर को कलावती उइके नाम की एक महिला चोपना थाने में अपनी मां के गुम होने की शिकायत दर्ज कराने पहुंची. पुलिस ने उसे टैटू की तस्वीर दिखाई. तस्वीर देखते ही कलावती ने उसे पहचान लिया जिससे ये तो पता चल गया कि मृतका का नाम रत्तो बाई था जो एक महीने से गायब थी. लेकिन अब भी सवाल ये था कि रत्तो बाई की हत्या किसने और क्यों की

रात में घर आता था नातिन का प्रेमी

पुलिस ने तफ्तीश तेज की तो एक सनसनीखेज खुलासा हुआ. रत्तो बाई की दो बेटियां हैं जिनमे से एक बेटी कलावती मजदूरी करने नर्मदापुरम गई थी और दूसरी बेटी चोपना थानाक्षेत्र के टेमरु गांव में रहती है. गुमशुदगी से पहले रत्तो बाई अपनी बड़ी बेटी कलावती के घर पर अपनी नातिन प्रतिभा उइके के साथ थी. इसलिए पुलिस को उसकी नातिन पर भी सन्देह हुआ. जब नातिन के बारे में गांव में पूछताछ की गई तो मालूम हुआ कि उसका किसी शनिराम नाम के युवक से प्रेम प्रसंग है. शनिराम उससे मिलने हर रात उंसके घर आता था. नानी रत्तो बाई को ये पसंद नहीं थी. उसने नातिन प्रतिभा को कई बार डांटा था और शनिराम को घर आने से रोका था. इस सुराग के आधार पर आगे बढ़ी पुलिस ने जब प्रतिभा और उंसके बॉयफ्रेंड शनिराम से पूछताछ की तो दोनों ने रत्तो बाई की हत्या करने का जुर्म कबूल किया.

परिवार को गुमराह कर रही थी नातिन

इस पूरे घटनाक्रम में एक ऐसी गफलत हुई जिससे रत्तो बाई की हत्या का खुलासा होने में एक महीने का समय लग गया. दरअसल आरोपी नातिन प्रतिभा ने अपनी मां कलावती को एक महीने तक ये बताया कि नानी मौसी के घर गई है और मौसी को ये बताया कि नानी उसके साथ हैं. नातिन ऐसा कहकर परिवार को गुमराह कर रही थी.

नशे और प्यार में अंधे

पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि नानी रत्तो बाई को टेमरू गांव उनकी बेटी के पास ले जाने का कहकर अपने साथ बाइक पर बैठाया. लेकिन गांव में न ले जाकर रास्ते में तीनों ने गला घोंटकर मार डाला और लाश नदी में फेंक दी. शराब के नशे और प्यार में अंधे हुए शनिराम ने कैसे निर्ममता से एक बुजुर्ग महिला की हत्या कर दी. उसे हत्या के लिए उकसाने वाली मृतका की नातिन प्रतिभा थी. जिसे उसकी नानी ने प्यार से पाला था. इस मामले में पुलिस ने प्रतिभा उसके बॉयफ्रेंड शनिराम और शनिराम के एक दोस्त को आरोपी बनाया है. तीनों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 4 =