Crime ब्रेकिंग – 4 डॉक्टरों पर केस दर्ज, घायल युवक की मौत का मामला

हरियाणा। गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल के चार डॉक्टरों पर कथित तौर पर ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है। लापरवाही के कारण एक 22 वर्षीय ब्रिटेन के नागरिक की मौत हो गई, जिसे एक दुर्घटना के बाद गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मामला दर्ज होने के बाद अधिकारियों ने यह जानकारी दी। यूके का रहने वाले अमित कटारिया मूल रूप से चंडीगढ़ के रहने वाले थे, यानी उनके पूर्वज चंडीगढ़ में रहते थे, बाद में उन्होंने ब्रिटेन की नागरिकता ले ली। उनके पिता अतुल कटारिया ने पुलिस शिकायत में कहा है कि उनका बेटा यहां संगीत (म्यूजिक) की पढ़ाई करने आया था और सेक्टर-66 में रहता था। मृतक के पिता ने पुलिस को बताया, “मेरा बेटा 10 मई को एक दुर्घटना का शिकार हो गया था, जब वह अपनी कार में ब्रेक लगाने में विफल रहा था, क्योंकि उसकी गाड़ी के ब्रेक के नीचे सैनिटाइजर की बोतल फंस गई थी। अपने अपार्टमेंट में अपनी कार पार्क करते समय उसे गंभीर चोटें आई थीं। दीवार तोड़कर उसकी कार जेनरेटर से टकरा गई थी। गंभीर हालत में उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।” शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया, “अस्पताल के डॉक्टर कई परीक्षणों के बावजूद यह पता नहीं लगा सके कि मृतक के फेफड़ों में खून क्यों भर रहा है, डॉक्टरों ने सीधे भारी बिजली के झटके दिए और कार्डियोपल्मोनरी पुनर्जीवन को फिर से शुरू किया। लापरवाही से मेरे बेटे की अप्राकृतिक मौत हुई। बाद में शव परीक्षण करने वाले डॉक्टर ने पुष्टि की कि उसके बेटे के फेफड़े फट गए थे, वह पंचर नहीं थे।” इसके बाद शिकायतकर्ता ने जिला चिकित्सा लापरवाही बोर्ड से संपर्क किया, जिसने पोस्टमार्टम रिपोर्ट की भी पुष्टि की। बोर्ड ने आरोप को सही पाया। इसके बाद उन्होंने मामले की सूचना सेक्टर-50 थाने में दी। सेक्टर-50 थाने के सब-इंस्पेक्टर धर्मबीर सिंह ने कहा, रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टरों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। तथ्यों की पुष्टि के बाद कानून के मुताबिक उचित कार्रवाई की जाएगी। सेक्टर-50 पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता की धारा 304-ए (लापरवाही से मौत) और 34 (सामान्य इरादे) के तहत मामला दर्ज किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen + 15 =