करंट की चपेट में आने से युवक की मौत, परिजनों ने किया चक्का जाम

बिलासपुर। जिले से एक दुखद खबर आई है। यहाँ के नदी में एक युवक को करंट लगाकर मछली मारना जानलेवा साबित हुआ। मछली मार रहे युवक की करंट के चपेट में आने से मौत हो गई। लेकिन परिजनों ने आरोप लगाया कि मस्तूरी स्वास्थ्य केन्द्र में डॉक्टर नहीं होने से युवक की जान गई है। स्वास्थ्य केन्द्र में घंटों इंतजार के बाद भी डॉक्टर नहीं पहुंचे। जिससे नाराज परिजनों ने स्वास्थ्य केन्द्र के पास चक्का जाम कर दिया। यह मामला बिलासपुर के मस्तूरी थाना क्षेत्र के ग्राम पाली का है।

मस्तूरी थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत पाली इटवा के कन्हैया लाल केवट गांव में ही स्थित अरपा नदी में मछली मारने निकला था। लगभग एक बजे के आसपास बिजली की करंट से मछली मारते वक्त करंट के संपर्क में वह खुद आ गया। जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई। आधे घंटे बाद जब उसके पिता ने उसे नजदीक आकर देखा, तो वह मृत पड़ा हुआ था। जिसे आसपास के ग्रामीणों की मदद से तत्काल मस्तूरी स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया।

वहीं मस्तूरी स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों की उपस्थिति नहीं थी। परिजन 1 घंटे तक डॉक्टरों का इंतजार करते रहे, जिसके बाद गुस्साए परिजनों ने हॉस्पिटल परिसर में हंगामा कतरते हुए मुख्य मार्ग पर चक्का जाम कर दिया। सूचना मिलने पर मस्तूरी पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची। पुलिस ने लोगों को समझाइश दी, जिसके बाद परिजन शांत हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 4 =