बेकाबू कार ने दो युवकों को कुचला, एक की मौत

बुरहानपुर शहर से गुजरे इंदौर-इच्छापुर-अकोला नेशनल हाइवे पर भागते तेज रफ्तार वाहनों पर लगाम नहीं लग पा रही है। जिसके चलते आए दिन दुर्घटनाएं सामने आती हैं। शनिवार दोपहर तीन बजे शनवारा चौराहे के पास तेज रफ्तार कार ने ट्रांसपोर्ट में काम करने वाले दो हम्मालों को जोरदार टक्कर मार दी। जिससे एक हम्माल की मौके पर मौत हो गई। दूसरा भी घायल बताया गया है। मृतक की पहचान राजघाट नया मोहल्ला निवासी मोहम्मद इकबाल के रूप में की गई है। घायल का नाम पता नहीं चल पाया है। स्थानीय दुकानदारों ने बताया कि दोनों हम्माल शनवारा पावर हाउस के पास एक ट्रांसपोर्ट में काम करते थे। घटना से कुछ देर पहले वे चाय पीने गए थे। वहां से लौट कर सड़क किनारे खड़े होकर बात कर रहे थे। इसी दौरान तेज रफ्तार कार ने टक्कर मार दी। घटना के चश्मदीदों का कहना है कि यहां से गुजर रहे एक आइसर वाहन ने सफेद कार को कट मारा था। बचने के चक्कर में उस कार के चालक ने वाहन मोड़ा तो लाल रंग की कार क्रमांक एमपी 09 डब्ल्यूएच 9534 को टक्कर लग गई। जिससे कार अनियंत्रित हो गई और हम्मालों से टकरा गई। कोतवाली पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। हादसे के बाद कार चालक वाहन छोड़कर फरार हो गया था। यह वाहन सिलिकान सिटी इंदौर निवासी देवदत्त फाल्के के नाम से पंजीकृत है। ठीक तरह से काम नहीं कर रहे चौराहे के सिग्नल शनवारा चौराहा शहर का सबसे व्यस्ततम चौराहा है। यहां पर यातायात व्यवस्था के लिए सिग्नल तो लगाए गए हैं, लेकिन ये ठीक तरह से काम नहीं कर रहे। खराब हो चुके पुराने सिग्नलों को बदल कर कुछ माह पहले ही नए सिग्लन लगाए गए थे, लेकिन ये भी ठीक तरह से काम नहीं कर रहे हैं। इनके रखरखाव की जिम्मेदारी नगर निगम की है। दूर से सिग्नल की सही जानकारी नहीं मिलने के कारण वाहन चालक जल्द निकलने के चक्कर में वाहनों की रफ्तार बढ़ा देते हैं। जिससे हादसे होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven + seventeen =