पंचायत भ्रष्टाचार: सरपंच और सचिव शासकीय योजनाओं की राशि का कर रहे थे बंदरबांट, कभी भी गिर सकती है प्रशासन की गाज…जानें पूरा मामला

जशपुर।। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में वित्तीय गड़बड़ी के मामले में कार्यवाही का रास्ता साफ हो गया है। यह मामला है पत्थलगांव ब्लाक के ग्राम पंचायत लुड़ेग का जांच में अनियमितता की पुष्टि होने के बाद जनपद पंचायत सीईओ टीएस मरकाम ने कार्यवाही के लिए कलेक्टर जशपुर को प्रतिवेदन भेज दिया है। इस मामले में पंचायत के सरपंच व सचिव पर कई शासकीय योजनाओं की राशि में बंदरबांट करने के आरोप लगे हैं। यह मामला जुलाई 2022 से कभी जांच तो कभी अन्य कारणों से लंबित पड़ा था। सीईओ ने मामले में दांडिक कार्रवाई के लिए एसडीएम को भी पत्र लिखने की बात कही है।

ग्राम पंचायत लुड़ेग एक अर्से से वित्तीय अनियमितताओं को लेकर सुर्खियों में रहा है। सरपंच अरविंद भगत एवं सचिव सुरेश यादव पर यहां संचालित शासकीय योजनाओं की राशि में कई बार गड़बड़ी करने के आरोप लगे हैं। आलम यह है कि इसके विरोध में सरपंच अरविंद भगत को अविश्वास प्रस्ताव का भी सामना करना पड़ चुका है, परंतु इसके बाद भी अब तक सरपंच एवं संचिव के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इसे लेकर जहां स्थानीय लोगों में आक्रोश है, वहीं पंचों में भी नाराजगी देखने को मिल रही है।

ग्रामीणों की मानें तो पंचायत में हुई गड़बड़ी के मामलों में कई बार उच्चाधिकारियों से शिकायत की जा चुकी है, परंतु मामले में जांच को लटकाकर रखा गया। थकहार कर ग्रामीणों की ओर से जनचौपाल में शिकायत की गई, परंतु जुलाई 2022 में हुई शिकायत में भी जांच लटकती रही। 5 महीनों के बाद जाकर जांच हुई और इसमें शिकायतों की पुष्टि भी हुई, परंतु इसके बाद भी कार्रवाई का मामला अटका पड़ा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × 5 =