अंबिकापुर कार्यसमिति से तय होगा छत्तीसगढ़ में जीत का रोडमैप : रेणुका

अम्बिकापुर।। केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह ने कहा है कि छह वर्ष बाद अंबिकापुर में हो रही भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में जीत का रोडमैप तैयार होगा इसी से छत्तीसगढ़ में भाजपा फिर से सत्ता में वापसी करेगी। 20 व 21 जनवरी को होने वाली प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में 287 प्रतिनिधि शामिल होंगे। इनमें छत्तीसगढ़ के प्रभारी व राज्यसभा सदस्य ओम माथुर भी शामिल हैं। ओम माथुर ने अब तक जिन राज्यों का प्रभार संभाला है वहां भाजपा की सरकार बनती है।

केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने बताया कि 20 जनवरी और 21 जनवरी के दो सत्र प्रदेश कार्यसमिति के होंगे। 21 जनवरी को अंबिकापुर में जनजातीय सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। चुनावी वर्ष की पहली कार्यसमिति अंबिकापुर में हो रही है। इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। रेणुका ने कहा कि 2003 के चुनाव में सरगुजा संसदीय क्षेत्र की आठ में से 7 सीटों पर भाजपा ने जीत दर्ज की थी, वही प्रदर्शन इस चुनाव में दोहराया जाएगा। कार्यसमिति की बैठक में केंद्र सरकार के वर्ष 2047 तक के भारत के विकास की परिकल्पना को मूर्त रूप देने के साथ छत्तीसगढ़ में जीत का रोडमैप तैयार किया जाएगा। सरगुजा क्षेत्र से चुनाव जीतकर इसकी शुरुआत होगी और छत्तीसगढ़ में भाजपा फिर सत्ता में वापस आएगी।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने मात्रात्मक त्रुटि से अनुसूचित जनजाति वर्ग से वंचित हुए 12 जनजातियों को पुन: जनजाति की श्रेणी में शामिल करने प्रक्रिया आरंभ कर चुकी है। लोकसभा में प्रस्ताव पारित हो चुका है। राज्यसभा में भी यह प्रस्ताव पारित होगा, इसमें उत्तर छत्तीसगढ़ के किसान – नगेसिया, बिझिया व पंडो जनजाति भी शामिल हैं। रेणुका ने बताया कि निकट भविष्य में अंबिकापुर से दिल्ली चक चलने वाली ट्रेन में साधारण कोच भी लगेंगे। यह अच्छी बात है कि ट्रायल में जितने यात्रियों की जरूरत होती है उससे अधिक यात्री इस ट्रेन से आना-जाना कर रहे हैं। फेटों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष ललन प्रताप सिंह, वरिष्ठ नेता अनिल सिंह मेजर, जिला महामंत्री अभिमन्यु गुप्ता, आखिले सोनी, अनुराग सिंहदेव, भारत सिंह सिसोदिया, अभिषेक शर्मा, मनोज गुप्ता, विश्वविजय सिंह तोमर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

राज्य ने नहीं दिया तो केंद्र ने दी पंचायतों को राशि

केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने आरोप लगाया कि पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने प्रदेश के सभी पंचायतों को प्रतिवर्ष 75-75 हजार रुपए देने का वादा किया था लेकिन एक भी पंचायत को राशि नहीं मिली। ऐसे में केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री आदी आदर्श ग्राम विकास योजना लागू कर एक लाख 17 हजार पंचायतों को चिन्हित किया। प्रथम चरण में 36 हजार 428 पंचायतों को प्रथम किश्त के रूप में 20 लाख 39 हजार प्रत्येक पंचायत की दर से प्रदान किए गए हैं। इनमें छत्तीसगढ़ के 4200 ग्राम पंचायत शामिल है। सरगुजा संसदीय क्षेत्र से 850 ग्राम पंचायतों को इस योजना में शामिल किया गया है। प्रथम किस्त में दी गई राशि से बुनियादी सुविधा विस्तार के कार्य होंगे। उपयोगिता प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के बाद दूसरे किस की राशि जारी की जाएगी।

एनर्जी कारीडोर में 55 हजार करोड़, प्रधानमंत्री आएंगे

केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह ने कहा कि उत्तर छत्तीसगढ़ की लंबित सभी रेल परियोजनाओं पर सर्वे का काम शुरू हो चुका है। इसे एनर्जी कारिडोर के रूप में विकसित करने के लिए केंद्र सरकार 55 हजार करोड रुपए खर्च करेगी। बजट में इस राशि का प्रावधान कर दिया गया है। केंद्रीय राज्य मंत्री ने बताया कि बीते पांच जनवरी 2023 को उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। मई 2023 में एनर्जी कॉरिडोर के शिलान्यास के लिए आने की सहमति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी है। उन्होंने बताया कि अंबिकापुर से बनारस सहित कई सड़कों को भारतमाला प्रोजेक्ट में शामिल करने का प्रस्ताव दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 3 =