CG अम्बिकापुर: सीएम बघेल और टीएस सिंहदेव के बीच चल रही नाराजगी को पूर्व मंत्री चंद्राकर ने दी हवा, कहा- वो भूपेश बघेल के अपमान सहने के लिए ही पैदा हुए हैं…

अम्बिकापुर।। छत्तीसगढ़ में इस साल विधानसभा चुनाव होने को है. ऐसे में प्रदेश की दोनों ही प्रमुख दल बीजेपी और कांग्रेस में बैठकों का दौर चल रहा है. कांग्रेस एक बार फिर छत्तीसगढ़ की सत्ता में काबिज रहने के लिए तैयारियों में लगी हुई है, तो वहीं बीजेपी, कांग्रेस को परास्त कर वापसी की तैयारी में है. ऐसे में बीजेपी के बड़े नेताओं का छत्तीसगढ़ की राजनीति की उप राजधानी कहे जाने वाले सरगुजा में जमावड़ा है।

20 जनवरी से बीजेपी प्रदेश कार्यसमिति की बैठक आयोजित की गई है, पहले दिन पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह, केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह, पूर्व मंत्री राजेश मूणत, अजय चंद्राकर, रामविचार नेताम समेत कई दिग्गज बैठक में शामिल हुए और आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति पर चर्चा हुई।

पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने दिया ये बयान

वहीं पहले दिन की बैठक समाप्त होने के बाद पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने स्वास्थ्य मंत्री और सीएम भूपेश बघेल को लेकर बड़ा बयान दिया. इसको लेकर राजनैतिक चर्चाओं के साथ बयानबाजी शुरू हो गई है. दरअसल, बीजेपी कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने अम्बिकापुर पहुंचे अजय चंद्राकर ने मीडिया से बातचीत करते हुए मंत्री टीएस सिंहदेव को लेकर कहा कि “टीएस बाबा का अपमान हो रहा है, वो अपमान सहने के लिए ही कांग्रेस में हैं मैं समझता था कि उनकी रीड की हड्डी, उसमें रीड की हड्डी नहीं है. वो भूपेश बघेल के अपमान सहने के लिए ही पैदा हुए हैं।

इसलिए मैंने उनके बारे में कोई बात नहीं कही, मैंने तो सरगुजा की जनता से कहा कि अपने महाराजा 114वें, 18वें पीढ़ी के महाराजा के अपमान का बदला लो. आप लोग जागो, वे नहीं जग सकते. वो मान लिए हैं अपमान सहना मेरी नियति है कांग्रेस में. बता दें कि अजय चंद्राकर ने एक बार फिर सिंहदेव और भूपेश बघेल के बीच चल रही कथित नाराजगी की बात खोल दी है. हालांकि, कांग्रेस जब से छत्तीसगढ़ की सत्ता में काबिज हुई है तब से सीएम बघेल और टीएस सिंहदेव के बीच सबकुछ ठीक नहीं चलने की बात कही जाती रही है।

नजदीक है विधानसभा चुनाव

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव का समय नजदीक आ रहा है. ऐसे में कांग्रेस बीजेपी दोनों ही दल के नेता एक दूसरे पर हावी हो रहे है. एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी की धार तेज हो चुकी है. बीजेपी जनता को मोदी सरकार की योजनाओं के फायदे गिनाकर बीजेपी को जिताने की बात कह रही है, तो वहीं कांग्रेस भूपेश सरकार की योजनाओं के बल पर चुनाव जीतने का दम भर रही है।

कुछ दिनों बाद कांग्रेस का राष्ट्रीय अधिवेशन छत्तीसगढ़ के रायपुर में होने वाला है. जिसमें देशभर के बड़े दिग्गज कांग्रेसी नेताओं की मौजूदगी होगी. ऐसे में बीजेपी वाले भी पीछे नहीं है. बीजेपी कार्यसमिति की बैठक में जोर शोर से चुनाव जीतने की रणनीति पर मंथन हो रहा है. वहीं इस बैठक में बीजेपी के दिग्गज नेता मौजूद है, जो चुनाव जीतने के लिए साम दाम दंड भेद का फार्मूला अपनाने के मूड में दिख रहे है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × five =