CG में विदेशी फंडिंग से हो रहा धर्मांतरण: CG के पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल भोपाल में बोले- धर्म बदलने वाले देश के विरोध में काम करते हैं…

भोपाल में बीजेपी की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने पहुंचे छत्तीसगढ़ सरकार के पूर्व मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता बृजमोहन अग्रवाल ने बड़ा बयान दिया। छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण को लेकर बड़ा बयान दिया। धीरेन्द्र शास्त्री को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार के मंत्री कवासी लखमा के बयान पर                  बृजमोहन अग्रवाल ने कहा- कवासी लखमा धर्मांतरण को रुकवाकर बताएं। पूरा बस्तर जल रहा है। धर्मांतरण को लेकर आदिवासी सड़कों पर हैं। भूपेश बघेल की सरकार में ईसाई मिशनरियों को बढ़ावा दिया जा रहा है। विदेशी धन का उपयोग करके वहां धर्मांतरण हो रहा है। ये अकेले धर्मांतरण नहीं बल्कि राष्ट्रांतरण हो रहा है। क्योंकि जो लोग धर्म बदलते हैं वो देश के विरोध में काम करते हैं।

छत्तीसगढ़ में बीजेपी ने जो 15 साल में किया उनको मैंटेन नहीं कर पा रही भूपेश सरकार

अग्रवाल ने कहा- छत्तीसगढ़ में डेवलपमेंट जीरो हो गया है। 15 साल में जो विकास काम हुए थे उनका मैंटेनेंस नहीं हो पा रहा है। छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल की सरकार का काम सिर्फ प्रचार-प्रसार में दिखता है। जो छत्तीसगढ़ स्वर्ग बन रहा था उसे नर्क बनाने का काम चल रहा है।

बीजेपी की बैठक में शामिल होने पर बोले-

कार्यसमिति में तो आधे से ज्यादा पुराने चेहरे हैं। मुख्यमंत्री जी हमारे साथ के हैं। मैंने अभी कहा कि हमारी राजनैतिक नाल मप्र से जुडी हुई हैं। तो मप्र से हमारा नाता कभी खत्म नहीं हो सकता। हम तो यही कामना करते हैं कि मप्र और छत्तीसगढ़ दोनों ध्रुवतारे की तरह देश में चमकें।

धीरेन्द्र शास्त्री को बालाजी से मिल रही शक्ति

वो एक धार्मिक व्यक्ति हैं। उनको हनुमान जी और बालाजी पर विश्वास है। वो उनकी ताकत से लोगों की समस्या का समाधान करते हैं तो लोगों को क्यों तकलीफ होनी चाहिए। अगर हम ये कहें कि अध्यात्म ही सबसे बड़ी ताकत है। सौ करोड से ज्यादा ऐसी आबादी है जो अध्यात्म के कारण समृद्धि प्राप्त करती है। वेद और शास्त्रों की मान्यताओं के कारण ये सब चल रहा है। कुछ लोगों के पेट में दर्द हो रहा है तो उसका कोई क्या कर सकता है। उन्होंने कौन सा चमत्कार दिखाया है। पर्चा बनाना कोई चमत्कार थोडे है। जो प्रभु कहते हैं वही वो करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 5 =