छत्तीसगढ़प्रदेशमहासमुन्द

BIG BREAKING :30 लाख के भ्रष्टाचार मामले में हुई बड़ी कार्रवाई..2 पर्यवेक्षक निलंबित..

महासमुंद।।महासमुंद जिले में रेडी-टू-ईट में अनियमितता पाए जाने पर 2 स्व-सहायता समूह को बर्खास्त कर दिया गया है. इसके अलावा 2 पर्यवेक्षक को निलंबित किया गया है।

बता दें कि महिला एवं बाल विकास विभाग में पदस्थ सुधाकर बोदले ने विभाग में हुए भ्रष्टाचार को उजागर किया था. मार्च 2020 एवं 2021 में मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह योजना के तहत गरीब कन्याओं की शादी में सरकारी उपहार सामग्री दिया गया था, जो बेहद ही घटिया स्तर के थे. इसके साथ ही रेडी टू ईट वितरण योजना में भ्रष्टाचार किया गया था. दोनों ही योजनाओं में 30 लाख रुपए का भ्रष्टाचार हुआ था।

महिला एवं बाल विकास संचालक दिव्या मिश्रा ने बताया कि महिला एवं बाल विकास अधिकारी की शिकायत बिन्दुओं की गठित जांच दल ने आज सोमवार को महासमुन्द परियोजना ग्रामीण का जांच किया गया।

प्रथम दृष्टया रेडी-टू-ईट गुणवत्तापूर्ण नहीं पाए जाने पर प्रगति महिला स्व-सहायता समूह बरोण्डाबाजार और एकता महिला स्व-सहायता समूह लभराखुर्द को बर्खास्त किया गया. इससे संबंधित सेक्टर के दो पर्यवेक्षक शशि जायसवाल बरोण्डाबाजार और दीपमाला तारक लभराखुर्द को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button