पंचायत समीक्षा

BIG NEWS :स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने वैक्सीनेशन को लेकर कही बड़ी बात.. जाने क्या कहा

छत्तीसगढ़ कोरोना प्रदेश रायपुर

रायपुर।। छत्तीसगढ़ में 18 प्लस के कोरोना वैक्सीनेशन (Corona vaccination in Chhattisgarh) को लेकर सियासत अब भी जारी है. कांग्रेस और भाजपा के बीच राजनीति के बीच मामला कोर्ट में भी चल रहा है।

इसी बीच स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने 18 से 44 साल तक के लोगों के लिए कोरोना वैक्सीन कमी की बात मानी है. स्वास्थ्य मंत्री ने माना कि प्रदेश में वैक्सीन की कमी है इससे 18 प्लस ऐज ग्रुप का वैक्सीनेशन प्रभावित हो रहा है।

केंद्र सरकार पर फोड़ा ठीकरा

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अब तक 18 से 44 आयु वर्ग के लिए कुल 7 लाख 97 हजार 110 वैक्सीन के डोज हमें मिले हैं. इसमें से 6 लाख 31 हजार 652 लोगों को हम वैक्सीन लगा चुके हैं. सिंहदेव ने कहा कि वैक्सीनेशन की स्थिति अभी अच्छी नहीं है. हमें कुल 7 लाख 97 हज़ार 110 वैक्सीन के डोज उपलब्ध हुए हैं।

इसमें से 6 लाख 31 का वैक्सीनेशन किया गया है. बहुत कम मात्रा वैक्सीन बची है. इसके बाद उपलब्धता की कोई बात नहीं आई है. पहले तो हम कंपनी से बात कर ले रहे थे. कंपनी से मंगा ले रहे थे. अब कंपनी कह रही है कि भारत सरकार ने पूरी तरह से रोक लगा दी है जितना वह कहेंगे उतने ही वैक्सीन देनी है।

बुधवार तक 42,936 लोगों को लगा टीका
बता दें कि 19 मई तक राज्य में 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को 785 केंद्रों में कुल 6 लाख 31 हज़ार 652 लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है. बुधवार को 18 से 44 साल आयु वर्ग के 42,936 लोगों को टीकाकरण किया गया. इसमें से अंत्योदय के 3487, बीपीएल के 16907, एपीएल के 19714 और फ्रंटलाइन वर्करों के 2828 हितग्राहियों को टीका लगाया गया।

12 मई को विदेश से वैक्सीन मंगाने की कही थी बात

इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री ने 12 मई को विदेश से वैक्सीन मंगाने की बात कही थी. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में भी विदेशों से कोरोना की वैक्सीन मंगाई जा सकती है. यह जानकारी प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने दी है. स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा, चर्चा हो रही है, कुछ राज्यों ने ग्लोबल टेंडर भी जारी किए हैं, ग्लोबल टेंडर के क्या नतीजे आते हैं, इसमें कौन भाग लेते हैं, अलग-अलग कंपनियों की वैक्सीन कितने में बिकती हैं, इस पर समीक्षा की जाएगी. जैसे ही अन्य राज्यों के ग्लोबल टेंडर खुलते हैं. उनकी स्थिति देखी जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *