पंचायत समीक्षा

CG सरकार में ढाई साल फॉर्मूला: विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत बोले- ढाई-ढाई साल का मामला मुख्यमंत्री और बाबा के बीच; हम 4 सेमीफाइनल खेल रहे थे, 2 अभी हैं

छत्तीसगढ़ कोरिया प्रदेश राजनीति सरगुजा संभाग

कोरिया।।छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार के 17 जून को ढाई साल पूरे हो चुके हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर बार-बार विवाद हुआ, लेकिन दावे खारिज भी हो गए। अब विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने शनिवार को कहा कि ढाई-ढाई साल का मामला मुख्यमंत्री और बाबा साहब के बीच है। इसकी जानकारी राहुल गांधी को भी है। ऐसे में इसकी जानकारी दिल्ली से ही मिल सकती है। कयासों से इसका अर्थ नहीं निकाला जा सकता है।

दरअसल, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत अपने तीन दिवसीय कोरिया दौरे के दौरान मनेंद्रगढ़ के राजस्थान भवन पहुंचे थे। वहां मीडिया से चर्चा के दौरान एक बार फिर ढाई-ढाई साल का मामला उठा। इस पर डॉ. महंत ने कहा कि यह मामला मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव के बीच का है। सरकार गठन के समय हम चार लोग सेमीफाइनल खेल रहे थे। उसमें 2 अभी भी हैं। सेमीफाइनल तो 4 लोगों में ही होगा, लेकिन फाइनल में जो जीतेगा, वहीं जीतेगा।

मंडल आयोग में कोरिया के लोगों को जगह नहीं, इसलिए मैं नाराज

वहीं विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत ने निगम-मंडल और आयोगों की सूची में कोरिया जिले के कार्यकर्ताओं को स्थान नहीं मिलने पर नाराजगी जताई है। कहा कि इससे उनकी व्यक्तिगत नाराजगी है। जिले के कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पीड़ा जायज है। वे भी इससे नाराज हैं। हालांकि भरोसा जताया कि अंतिम सूची में कोरिया जिले के कांग्रेस नेताओं का नाम शामिल होगा।

राज्यसभा में जो हुआ, उसे अच्छी नजर से नहीं देखता पिछले दिनों राज्यसभा में हुए हंगामे और मार्शल से मारपीट को लेकर भी विधानसभा अध्यक्ष ने अपनी बात कही। उन्होंने कहा कि एक पीठाधीश अधिकारी होने के नाते वह खुद इसे अच्छी नजर से नहीं देखते। हर एक सदन का नियम होता है, कानून होता है, मर्यादा होती है, परंपराएं हैं। इसकी हम सभी के प्रति जवाबदेही है, फिर सदस्य ही क्यों न हों। हमें इसकी मर्यादा, परंपरा और नियमों का ख्याल रखना होता है ।

CM बघेल ने कहा था- हाईकमान के कहने पर पद संभाला, कहेंगे तो हट जाऊंगा

इससे करीब एक माह पहले CM भूपेश बघेल ने कांग्रेस हाईकमान से मुलाकात के बाद एयरपोर्ट पर मीडिया से चर्चा की थी। उस दौरान इस तरह के दावों और बातों को खारिज कर दिया था। कहा था कि ऐसी बातें फैलाना भाजपा की साजिश है। हाईकमान के कहने पर हम सभी अपनी-अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन कर कर रहे हैं। हाईकमान की ओर से जब कहा जाएगा हट जाएंगे। ये सवाल हाईकमान से पूछिए। सीएम बनाने व हटाने का काम हाईकमान करता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *