पंचायत समीक्षा

CHHATTISGARH :ब्याज खोरो ने एक और नवजवान को किया आत्महत्य्या के लिए मजबूर…जानें क्या है पूरा मामला

छत्तीसगढ़ क्राइम न्यूज़ प्रदेश रायपुर

रायपुर।।छत्तीसगढ़ प्रदेश की राजधानी रायपुर में 10 से 40 प्रतिशत तक सूद का कारोबार बेखौफ जारी आज के हालात ये हो गए कि जिस तरह रायपुर शहर के मोहल्लो गलियों में आवारा कुत्तों का आतंक जारी है ठीक उसी तरह शहर के हर वार्ड में ब्याजखोरो का आतंक बेखौफ जारी है नगर निगम तो समय समय पर आम नागरिकों को आवारा कुत्तों के आतंक से बचाने आवारा कुत्तों का नसबंदी करवाती है!पर 10 से 40 प्रतिशत ब्याज वसूली करने वालो के ख़ौफ़ से बचाने कोई भी अभियान अबतक नही चलाया गया।

जिसका नतीजा यह हो रहा है कि आज बहुत से परिवार टूट चुके है बिखर चुके है एक मजबूर इंसान अपने परिवार के अनगिनत मजबूरी के चलते बच्चों की पढ़ाई बीमारी कारोबार में घाटे के चलते मजबूरी वश सूदखोरों के जाल में आसानी से फंस जाता है और वह मजबूर इंसान इन सूदखोरों के जाल में एसा फसता चला जाता है कि उसका मकान ज़मीन जायजाद सब ब्याजखोरो के कब्जे में चला जाता है और बहुत से एसे है जो सूदखोरों से तंग आकर अपनी जान गवा चुके है।

एसे ही 15 जुलाई को एक नवजवान ने सूदखोरों के चुंगल में फंस कर अपनी जान गंवा दी मौदहापारा निवासी सैय्यद उबैद अली (पप्पू) ने दस लाख कर्ज के एवज में एक करोड़ रुपये ब्याज व जमीन जेवर तक सुदखोरो को दिया उसके बाद भी सुदखोरो ने उबैद का पीछा नहीं छोड़ा जिससे तंग आकर उबैद ने मौदहापारा कब्रस्तान में जहरीला पदार्थ पी लिया अपनी बहन को वाईस मेसेज किया 4 सुदखोरो के नाम वाईस मेसेज के जरिये बताया वाइस मेसेज करते समय उबैद हकलाने लगा और बेहोश होकर गिर गया इससे उसकी बहन व परिजन घबरा गए और अनहोनी की आशंका चलते उबैद की तलाश में लग गए वाईस मेसेज में अज़ान की आवाज़ सुनाई दे रही थी।

जिससे परिजनों ने अंदाजा लगाया कि वह किसी मस्जिद के आसपास है तलाश करते परिजन कब्रिस्तान पहुँचे जहां उबैद बेसुध पड़ा मिला उसे तुरंत आम्बेडकर अस्पताल पहुचाया गया जहां दूसरे दिन उसकी मौत हो गई परिजनों के मुताबिक मृतक उबैद की बहन की शादी दिसम्बर माह में तय हुई जिसके गहने भी सुदखोरो के पास गिरवी है उबैद और उसकी बहन ग्रुप लोन का कार्य करते थे.

उबैद ने सुसाइड करने से पहले अपनी बहन को रोते रोते एक ऑडियो भेजा उस ऑडियो में अपनी मौत की वजह और उससे जुड़े जिम्मेदार लोगों का जिक्र किया युवक द्वारा भेजा ऑडियो व अन्य प्रमाण भी परिजन द्वारा पुलिस को उपलब्ध कराए लेकिन अभी तक इस मामले में पुलिस द्वारा कोई ठोस कार्यवाही नही की गई परिजनों ने मौदहापारा थाना में शिकायत दर्ज करवाई है इसके मुताबिक आरिफ, फमिया, प्रियंका, मुमताज़ इमरान,के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई गई पर मौदहापारा थाना द्वारा आज लगभग 15 दिन बीत जाने के बाद भी कोई कार्यवाही नही करना समझ के परे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *