पंचायत समीक्षा

कांग्रेसी नेता कर रहा था मवेशी की तस्करी:युवक बोला- हर ट्रिप पर पुलिस को देता हूं 10 हजार, प्रतापपुर पुलिस करा रही तस्करी…

अम्बिकापुर क्राइम न्यूज़ छत्तीसगढ़ प्रदेश बलरामपुर सरगुजा संभाग

 

सरगुजा।। बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर इलाके में ग्रामीणों के सहयोग से पुलिस ने चार गौ तस्करों को पकड़ कर जेल भेज दिया है। पकड़े गए तस्करों में एक सूरजपुर जिले के प्रतापपुर निवासी कांग्रेसी नेता नईमुद्दीन खान है, जिन्हें पकड़ने के बाद स्थानीय लोगों ने पीटा और इसके बाद तस्करी के बारे में पूछा तो पकड़े गए कांग्रेसी नेता ने कहा कि प्रतापपुर थाना प्रभारी तस्करी में साथ देता है, और पैसा लेता है।

उसने एक पुलिस कर्मी का नाम लिया और उस पर भी पैसे लेने का आरोप लगाया। वहीं यह भी खुलासा किया है कि बसंतपुर पुलिस हर ट्रिप में 10 हजार तस्करी के लिए उनसे लेती है। इसके बाद आक्रोषित लोगों ने रिश्वत लेकर तस्करी कराने वाले पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की मांग की है। रविवार की रात नगरवासियों ने एक ट्रक में 31 नग मवेशियों को लेकर यूपी के बूचड़ खाना ले जा रहे तस्करों को पकड़ कर बेदम पीटा। ट्रक क्रमांक यूपी 04 सीए 9105 में अंबिकापुर की ओर से भैंसों को भरकर भेजा जा रहा था। इसकी सूचना कुलदीप यादव 25 वर्ष ग्रामीण कोटराही को मिली। उन्होंने साथियों के साथ मिलकर तस्करों को पकड़ा, जिसमें तस्कर कांग्रेसी नेता व तस्करी के आरोपी नदीम खान ने खुलासा किया कि प्रतापपुर थाना प्रभारी व बसंतपुर पुलिस को उनके द्वारा मैनेज किया जाता है। इसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। पकड़े गए तस्करों में सरफराज खान, नईमुद्दीन, सागीर आलम भी हैं। वे मवेशियों को यूपी के बूचड़ खाना में ले जा रहे थे।

तस्करों को पकड़ कर लोगों ने पीटा: 31 मवेशियों को ट्रक में भरकर ले जा रहे थे उत्तरप्रदेश के बूचड़खाना

स्कार्पियो सवार तस्कर ट्रक के आगे चल रहे थे
पुलिस ने रिपोर्ट पर चारों आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए आरोपियों को न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। तस्कर ट्रक के आगे स्कार्पियो वाहन में सवार होकर चल रहे थे, लेकिन इसी दौरान नगरवासियों के सहयोग से मवेशी तस्करों को पकड़ने में सफलता हासिल हुई है।

जांच कर पुलिसकर्मियों पर होगी कार्रवाई
वाड्रफनगर एसडीओपी अनिल विश्वकर्मा ने बताया कि तस्कर ने जिन पुलिस वालों पर रिश्वत लेकर तस्करी में साथ देने का आरोप लगाया है, उनके खिलाफ जांच कराई जाएगी, इसके बाद कार्रवाई होगी। तस्करों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

पता नहीं वह ऐसा आरोप मुझ पर क्यों लगा रहा
प्रतापपुर थाना प्रभारी बिकेश तिवारी ने कहा कि उन पर आरोप लगाने वाला वीडियो उन्होंने देखा है, लेकिन वह ऐसा आरोप कैसे लगा रहा है, यह मिलने पर समझ आएगा। उसे पीटा गया और इसके बाद उसने ऐसा बोला है। इंद्रजीत नामक पुलिस कर्मी उनके थाना का नहीं वह चंदौरा थाना में पोस्टेड है।

एसपी को जांच के लिए दिए निर्देश: आईजी
आईजी सरगुजा संभाग अजय यादव ने कहा है कि मवेशी तस्कर ने पुलिस पर जो आरोप लगाए हैं, उसकी जांच के लिए सूरजपुर पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया है। प्रभारी के साथ ही सिपाही पर भी आरोप है। इसमें जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *