पंचायत समीक्षा

कफ सिरप पीने से युवक की मौत:नशे के लिए 3 लोगों ने पी दवा, इलाज के दौरान एक की मौत; 4 महीने पहले 9 की जान गई थी…

छत्तीसगढ़ प्रदेश बिलासपुर संभाग

 

छत्तीसगढ़।। बिलासपुर में एक बार फिर से कफ सिरप पीने से मौत हुई है। इस बार यह घटना बिल्हा ब्लॉक के बरतोरी गांव में हुई है, जहां नशे के लिए कफ सिरप पीने वाले एक युवक ने शनिवार के दिन इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है। वहीं दो अन्य युवकों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। दोनों का इलाज बिलासपुर के सरकारी अस्पताल सिम्स में चल रहा है। इससे चार महीने पहले भी इसी तरह कफ सिरप पीने से 9 लोगों की जान चली गई थी।

जानकारी के अनुसार, शुक्रवार के दिन बर बरतोरी में मेडिकल शॉप संचालक चौलाराम कौशिक(39) के पास गांव में ही फोटो स्टूडियो चलाने वाला खगेश कौशिक(24) और उसका साथी किशन पारकर (22) पहुंचे थे। किशन भी बरतोरी का ही रहने वाला है। दोनों युवकों से चौलराम ने कहा कि उसके पास एक कफ सिरप है, जिससे बहुत नशा होता है। उसकी बातों में आकर खगेश और किशन दवा पीने को तैयार हो गए। इसके बाद तीनों ने 100-100 एमएल की दो कफ सिरप पी ली और अपने-अपने घर चले गए।

घर जाते ही तबीयत बिगड़नी हुई शुरू

तीनों के घर जाने के कुछ देर बाद खगेश और किशन कि तबीयत बिगड़ने लगी। घर वालों ने जब जानकारी ली तो उन्होंने मेडिकल दुकान से कफ सिरप पीने की बात उन्हें बताई। इधर, मेडिकल स्टोर चलाने वाले चौलाराम की तबीयत भी बिगड़ने लगी। जिसके बाद देर रात तीनों को सिम्स में भर्ती करवाया गया। जहां पर इलाज के दौरान खगेश की मौत हो गई। वहीं चौलराम और किशन कि हालत गंभीर बनी हुई है। मामले की जानकारी अस्पताल प्रबंधन ने पुलिस को दी है।

वहीं पूरे मामले को लेकर CMHO प्रमोद महाजन ने कहा है कि मामले कि जांच कराई जा रही है। अगर सिरप में गड़बड़ी पाई गई तो मेडिकल स्टोर और एजेंसी से दवाइयां जब्त की जाएगी। इस मामले को लेकर ASP ग्रामीण रोहित झा ने कहा कि हम मामले की जांच कर रहे हैं, इसके लिए हम डॉक्टरों से भी बात कर रहे हैं। जांच के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

होम्योपैथिक कफ सिरप के साथ महुआ शराब मिलाकर पी गए

आज से ठीक चार महीने पहले भी कफ सिरप पीने से सिर्गिट्टी थाना क्षेत्र के कोर्मी धुरी पारा गांव के 9 लोगों की जान चली गई थी। सभी ने नशे के लिए होम्योपैथिक कफ सिरप के साथ महुआ शराब मिला कर पी थी। जिसके बाद उन्हें गंभीर हालत में सिम्स अस्पताल भर्ती करवाया गया था, जहां पर इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया था। मामले में पुलिस ने तब दवा बेचने वाले झोलाछाप डॉक्टर को गिरफ्तार भी किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *